'ऑनर किलिंग' का शिकार हुईं तीन पाकिस्तानी महिलाएं?

Image caption पाकिस्तान के उत्तरी इलाके में ऑनर किलिंग की घटनाएं अक्सर खबरों में आती रहती हैं

पुलिस के मुताबिक़ उत्तरी पाकिस्तान के सुदूर पहाड़ी इलाके में तीन महिलाओं की उन्हीं के एक रिश्तेदार ने गोली मारकर हत्या कर दी. पुलिस ने बताया है कि मृतकों में एक महिला और उनकी दो बेटियां शामिल हैं जिन्हें महिला के ही सौतेले बेटे ने मौत के घाट उतार दिया.

इसे कथित रूप से ऑनर किलिंग का मामला माना जा रहा है.

गिलगिट बाल्टिस्तान इलाके में दिल दहला देने वाली ये घटना तब हुई जब इन महिलाओं की कुछ रिकॉर्ड की हुई चीजों को इलाके में प्रसारित कर दिया गया.

मानवाधिकार कार्यकर्ताओं का कहना है कि इस घटना के पीछे वो वीडियो था जिसमें इस महिला की दोनों बेटियां अपने परिवार वालों के सामने हँसते हुए दिखाई दे रही हैं. इनमें से एक की उम्र 17 वर्ष है.

इनके मुताबिक पड़ोसियों का कहना है कि महिला के सौतेले बेटे को शायद ये लगा कि इस वीडियो से उनके परिवार के सम्मान को आघात लगा है.

बीबीसी को मोबाइल पर मिले इस वीडियो फुटेज में ये महिलाएं उस वक्त अपने घर के बाहर कुछ और लड़कियों के साथ हँसते हुए दिख रही हैं जब बाहर तेज़ बरसात हो रही है.

इसमें एक ऑडियो रिकॉर्डिंग भी है जिसमें एक महिला कथित रूप से तोहफे के बदले किसी को धन्यवाद देते हुए सुना जा सकता है.

महिलाओं पर अंकुश

पाकिस्तान के उत्तरी इलाके में ऑनर किलिंग की घटनाएं अक्सर सुनने में आती हैं. ऐसा अक्सर तब होता है जब महिलाएं अपने परिवार के अलावा किसी अन्य पुरुष के साथ देखी जाती हैं.

इसी इलाके में पिछले साल पांच महिलाओं और दो पुरुषों की हत्या कर दी गई थी. ये सभी एक वीडियो में एक शादी समारोह में एक साथ नाचते हुए दिख रहे थे.

जब पाकिस्तान की उच्च न्यायालय ने इस इलाके में तथ्यों की जांच के लिए दल भेजा तो स्थानीय लोगों ने इस बात से इनकार किया कि इस तरह से किसी की हत्या हुई है.

लेकिन कई मानवाधिकार कार्यकर्ताओं का मानना है कि पाकिस्तान में ऑनर किलिंग के मामले में पिछले साल कम से कम 900 महिलाओं की हत्याएं हो चुकी हैं.

इनके मुताबिक कानून में पर्याप्त सुधारों के बावजूद ऐसे लोगों को सजा मिलने की दर बहुत कम है और दोषी लोग अक्सर बच जाते हैं.

(बीबीसी हिन्दी का नया एंड्रॉएड डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार