ब्लैकबेरी को 500 करोड़ का नुक़सान, शेयर धड़ाम

  • 28 जून 2013
ब्लैकबेरी को हुआ भारी नुकसान

एक जून को ख़त्म हुई तिमाही के दौरान स्मार्टफ़ोन निर्माता कंपनी ब्लैकबेरी को 84 मिलियन डॉलर (लगभग 500 करोड़ रुपए) का नुक़सान हुआ. इस भारी भरकम नुक़सान के बाद कंपनी के शेयर धड़ाम हो गए.

हालांकि पिछले साल पहली तिमाही के दौरान कंपनी को 518 मिलियन डॉलर (लगभग तीन हज़ार करोड़ रुपए) का नुक़सान हुआ था. यह नुक़सान पिछले साल की तुलना में तो बहुत कम है लेकिन इस साल के लिए विशेषज्ञों के अनुमान की तुलना में बहुत ज्यादा है.

कनाडा के ओंटारियो स्थित ब्लैकबेरी कंपनी ने कहा है कि सितंबर तक चलने वाली तिमाही में भी कंपनी को नुक़सान उठाना पड़ेगा.

न्यूयॉर्क में सत्र पूर्व व्यापार के दौरान ही कंपनी के शेयर 17 प्रतिशत तक गिर गए.

अब अमरीकी सैनिकों के पास भी होगा एंड्रॉयड फोन

कंपनी के स्मार्टफ़ोन की बिक्री तो बढ़ी है हालांकि ब्लैकबेरी ने यह नहीं बताया है कि उसने अपने ऑपरेटिंग सिस्टम बीबी10 पर आधारित कितने फ़ोन अभी तक बेचे हैं.

विश्लेषकों की नज़र ब्लैकबेरी के नए स्मार्टफ़ोन ज़ेड 10 की बिक्री पर थी. इस फ़ोन को अमरीकी बाज़ार में लांच होने के बाद की यह पहली तिमाही थी.

ब्लैकबेरी ने इस साल दो नए स्मार्टफ़ोन बाज़ार में लांच किए थे. ज़ेड10 पूरी तरह से टचस्क्रीन फ़ोन है जबकि क्यू10 कीपैड आधारित है. ब्लैकबेरी का कीपैड यूज़र्स की पसंद रहा है.

अपनी बिक्री की जानकारी देते हुए ब्लैकबेरी ने इतना ही कहा कि इस तिमाही में कंपनी ने 68 लाख फ़ोन बेचे जबकि इसी दौरान पिछले साल कंपनी ने 78 लाख फ़ोन बेचे थे.

दुनिया का सबसे तेज मोबाइल

मोर्निंगस्टार से जुड़े विश्लेषक ब्रॉयन कोलेलो के मुताबिक़ ब्लैकबेरी 10 की शुरुआती लांचिंग, ख़ासतौर से ज़ेड10 के लिए शुभ नहीं रही. लेकिन दूसरी तिमाही में नुक़सान का अनुमान क्यू10 के लिए भी बेहतर संकेत देता नहीं दिख रहा है.

स्मार्टफ़ोन बाज़ार में भीषण प्रतिद्वंदिता के बीच ब्लैकबेरी एप्पल और सैमसंग के सामने अपनी जगह मज़बूत करने के लिए संघर्ष कर रही है.

ब्लैकबेरी का नाम पहले रिसर्च इन मोशन था लेकिन इस साल जनवरी में कंपनी ने अपना व्यापारिक नाम ब्लैकबेरी कर लिया था.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

संबंधित समाचार