अब चीन में नकली एफ़िल टावर और व्हाइट हाउस भी

चीन में नकली इमारतें

पाइरेटेड डीवीडी, नकली आईफ़ोन से चीन बहुत आगे बढ़ चुका है. नकल की संस्कृति को नए आयाम देते हुए चीन में पूरे के पूरे शहर की नकल तैयार की जा रही है.

हाल ही में बसाए गए चीन के थेम्स टाउन में घुसते ही आप चीन के चिर-परिचित माहौल से अलग दुनिया में आ जाते हो.

Image caption चीनी युवा इन कस्बों मे घूमकर यूरोप का मज़ा ले लेते हैं

थेम्स टावर हाउसिंग स्कीम और इससे लगते सॉंगजियांग ज़िले के मुख्य योजनाकार ब्रिटिश आर्किटेक्ट टोनी मैके हैं.

यहां चीनी जीवन की धकापेल नहीं है, शोर-शराबा नही है.

Image caption बीजिंग में पैरिस के मशहूर एफ़िल टावर की प्रतिकृति

सड़कें साफ़-सुथरी और हवादार हैं और कुछ दूरी पर इंग्लैंड के कॉट्सवर्ल्ड गांवों की तर्ज पर क्लॉक टावर भी नज़र आने लगता है.

और तो और इसमें मध्यकाल का एक मीटिंग हॉल और ब्रिटेन के पूर्व प्रधानमंत्री विंस्टन चर्चिल की मूर्ति तक है.

लेकिन मैके इस सबसे ख़ुश नहीं हैं. वो ख़ासकर निर्माण में उचित सामग्री इस्तेमाल न किए जाने और मूल योजना से भटकने से नाराज हैं. वह कहते हैं, “यह ठीक नहीं लगता, यह नकली लगता है.”

Image caption इटली के वैनिस की झलक भी चीन के नकली शहरों में मिलती है

वह कहते हैं कि जिस वास्तुकार ने यह बनाया है उसने इसमें कई पद्धतियों का घालमेल कर दिया है. कहीं अनुपात गलत है, कहीं ऐसे पत्थरों का इस्तेमाल किया गया है जो असली अंग्रेजी चर्च में कहीं इस्तेमाल नहीं होते.

मैके को यह किसी फ़िल्मी सेट की तरह लगता है.

Image caption बीजिंग के बाहर फ्रांस के बोरोके शातेऊ दि मेसन्स लाफ़ीते की नकल

वैसे थेम्स टाउन में कई युवा जोड़े तस्वीरें खिंचवाने आते हैं. इनमें ज़्यादातर को यूरोपीय जीवन पसंद है.

अपनी साथी के साथ एक फव्वारे के आगे फोटो खिंचवा रहे एक युवक फ़ान करते हैं, “मैं सचमुच चाहता हूं कि किसी दिन असली थेम्स नदी को देख पाऊं. इसके किनारों पर बैठूं, कॉफ़ी पीऊं और ब्रितानी सूर्यास्त का मज़ा लूं.”

Image caption चीन में सरकारी इमारतों के लिए व्हाइट हाउस और अमरीकी कांग्रेस की इमारतों की खूब नकल हो रही है

अपनी छुट्टी के दिन थेम्स टाउन पहुंचीं झांग के अनुसार बाकी चीनी शहर बहुत भीड़ भरे हैं इसलिए वह यहां आई हैं.

वह कहती हैं, “सामान्यतः अगर आप विदेशी इमारतों को देखना चाहते हैं तो आपको विदेश जाना होगा. लेकिन यहां इन्हें देखकर आप पैसे बचा सकते हैं.”

Image caption चीन के सुझाउ शहर में लंदन का टावर ब्रिज भी बनाया गया है

थेम्स टाउन चीन के “एक शहर, नौ कस्बे” वाली योजना के तहत बसाया गया है. योजना के तहत शहर के इर्द-गिर्द अलग-अलग अंतरराष्ट्रीय तर्ज के कस्बे शहर के इर्द-गिर्द बसाए जाएंगे.

चीन में एफ़िल टावर, मॉक टावर ब्रिज और तो और इंग्लैंड में स्थित प्रागैतिहासिक स्टोनहेंगे का प्रतिरूप भी बनाया गया है.

Image caption इंग्लैड में स्थित प्रागैतिहासिक काल के स्टोनहेंज का प्रतिरूप भी चीन में बना लिया गया है

यूनेस्को के विश्व विरासत स्थलों में शामिल ऑस्ट्रेलिया के हॉलस्टेट के अल्पाइन गांव का प्रतिरूप पिछले साल गुआंगडोंग प्रांत में बनाया गया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)