चालीस साल बाद 'वापस मिला कटा हुआ हाथ'

एनगुएन कांग हुंग और सैम एक्सलराड
Image caption इस युद्ध में क़रीब 30 लाख वियतनामी और 58 हज़ार अमरीकी सैनिक मारे गए थे

चालीस साल से भी अधिक समय बाद उत्तरी वियतनाम के एक सैनिक को उसका कटा हुआ हाथ वापस मिल गया है.

वियतनाम युद्ध के दौरान लड़े एनगुएन कांग हुंग के हाथ में 'गैंग्रीन' हो गया था. इसे देखते हुए अमरीकी सेना के डॉक्टर सैम एक्सलराड ने उनका हाथ काट दिया था.

'गैंग्रीन' तब होता है जब शरीर के किसी हिस्से के टिशू यानी ऊतक नष्ट हो जाते हैं. ये किसी चोट या इंफ़ेक्शन यानी संक्रमण होने की स्थिति में होता है.

ऑपरेशन के बाद डॉक्टर सैम ने हुंग के कटे हाथ की हड्डियों को अच्छे यादगार काम की निशानी के तौर पर रख लिया था जिसमें उन्होंने दुश्मन सेना के एक सैनिक का इलाज किया था.

सैनिक की खोज

हुंग की खोज के लिए डॉक्टर सैम ने 2012 में एक अभियान शुरू किया. आखिरकार वो सोमवार को हड्डियां वापस करने के लिए हुंग से मिले.

अपनी हड्डियां वापस पाकर खुश हुए हुंग ने कहा, ''इनको देखकर और करीब आधे दशक बाद अपने शरीर के अंग को वापस पाकर मैं बहुत खुश हूं.''

वे कहते हैं, ''मेरे हाथ की ये हड्डियाँ युद्ध में मेरे योगदान का प्रमाण हैं. मैं इन्हें अपने घर में शीशे के एक बॉक्स में रखूंगा.''

उन्होंने बताया कि उनकी सेना की फ़ाइल गुम हो गई है लेकिन अब उन्हें उम्मीद है कि ये हड्डियाँ उनके वृद्धावस्था पेंशन के दावे में मदद करेंगी.

एनगुएन कांग हुंग इन हड्डियों के साथ ही दफ़न होने की योजना भी बना रहे हैं.

वहीं डॉक्टर सैम ने कहा कि हड्डियाँ लौटाकर वह बहुत खुश हैं.

हाथ का सफ़र

सैम कहते हैं, ''साल 1966 में जब मैंने उनका हाथ काटा था तो हमारे एक सहयोगी ने कटे हुए हाथ को रख लिया था. उसने माँस को हटाकर हड्डियों को तार से अच्छी तरह बाँधकर मुझे दे दिया था.''

Image caption एनगुएन कांग हुंग की खोज डॉक्टर सैम ने 2012 में शुरू की

वे बताते हैं, ''छह महीने बाद जब मैंने उस देश को छोड़ा तो मैंने उसे फेंका नहीं. मैं उन्हें बॉक्स में रखकर अपने घर ले आया. इतने वर्षों तक वह मेरे घर में ही रहा.''

डॉक्टर सैम 2011 में एक बार फिर वियतनाम लौटे और उस आदमी की तलाश शुरू की जिसका हाथ उन्होंने काटा था.

एक स्थानीय पत्रकार ने उनके इस मिशन के बारे में लिखा. यह ख़बर हुंग तक भी पहुंची. जब उन्हें इस बात का पता चला कि उन्हें उनका हाथ वापस मिलेगा तो उन्होंने कहा,''वास्तव में मैं इस पर विश्वास नहीं कर सकता हूं.''

वे कहते हैं, ''मैं इस बात पर विश्वास नहीं कर सकता कि एक अमरीकी डॉक्टर मेरे संक्रमित हाथ को रखेगा, उसका मांस हटाएगा, उसे सुखाएगा, उसे अपने घर ले जाएगा और मेरे लिए उसे 40 साल से भी अधिक समय तक अपने घर में रखेगा.''

वे कहते हैं, "युद्ध में मारे गए अपने साथियों की तुलना में मैं खुद को बहुत अधिक भाग्यशाली मानता हूं."

वियतनाम युद्ध 1975 में ख़त्म हुआ था. अनुमान के मुताबिक़ इस युद्ध में क़रीब 58 हजा़र अमरीकी सैनिक और क़रीब 30 लाख वियतनामी सैनिक मारे गए थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहाँ क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

संबंधित समाचार