कुत्तों से कोकीन तस्करी कराने वाला गिरोह

इटली में कुत्तों से तस्करी
Image caption गिरोह तस्करी के लिए कुत्तों का इस्तेमाल कर रहे हैं

इटली में लैटिन अमरीकी तस्करों का एक गिरोह कोकीन की तस्करी के लिए कुत्तों का इस्तेमाल करते पाया गया. मैक्सिको और इटली के बीच ये तस्कर कुत्तों के ज़रिए काम कर रहे थे.

मैक्सिको में इस गिरोह के साथ काम कर रहा एक पशु चिकित्सक ने बड़े कुत्तों को मिलान जाने के पहले ड्रग के पैकेट निगलने पर मजबूर करता था. उसके बाद कुत्तों को मैक्सिकों से इटली ले जाया जाता था.

इटली के एक जज ने इस लैटिन अमरीकी गिरोह के 49 आरोपियों पर मुक़दमा चलाने का आदेश दिया है.

मिलान पहुंचने के बाद कोकीन के पैकेट्स निकालने के लिए इन कुत्तों को मार दिया जाता था. पशु अधिकारों के लिए काम करने वाले कार्यकर्ताओं में इस बात को लेकर काफी गु्स्सा है.

इस तस्करी में शामिल इक्वाडोर, पेरु और सैल्वाडोर के आरोपी नागरिकों को इटली में मुकदमे का सामना करना होगा.

'युवा ड्रग तस्कर'

संदिग्घ गिरोह के सदस्यों की उम्र 19 से 37 साल के बीच है. उनके बारे में कहा जा रहा है कि वे युवा ड्रग तस्कर गिरोह का हिस्सा हो सकते हैं. इस गिरोहों को "पैंडिल्लास" के नाम से जाना जाता है.

मामले की छानबीन कर रहे जज फैबरिज़ो डी अरकांगलो का कहना है कि युवा तस्करों के गिरोहों के अलग-अलग नाम हैं जैसे टेरबोल, नेता, लैटिन किंग शिकागो.

आरकांगलो ने बताया कि इन सशस्त्र गिरोहों के सदस्य मिलान के आसपास आपराधिक गतिविधियों में शामिल रहे हैं. इस तरह की ड्रग तस्करी का मामला सबसे पहले मार्च में सामने आया था, जब 75 संदिग्ध लोगों को गिरफ़्तार किया गया था.

पशु अधिकारों के काम करने वाले कार्यकर्ताओं का कहना है कि इटली पहुंचने के पहले जरुर कई कुत्तों की मौत हो जाती होगी. पेट में कोकीन की थोड़ी सी मात्रा का रिसाव भी कुत्तों के लिए जानलेवा हो सकता है.

सभी 49 लैटिन अमरीकी संदिग्धों को संगठित अपराध के मुक़दमें का सामना करना पड़ेगा. न्यायालय की कार्यवाही 9 अक्टूबर से शुरु होगी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार