माइक्रोसाफ़्ट और ब्लैकबेरी ने क़ीमतें घटाईं

माइक्रोसाफ़्ट सरफ़ेस टैबलेट

माइक्रोसाफ़्ट और ब्लैकबेरी ने अपने प्रमुख उत्पादों की क़ीमतें घटा दी हैं. इसका मक़सद अपनी बिक्री बढ़ाना है.

माइक्रोसाफ़्ट ने अपने टैबलेट सरफ़ेस आरटी (32 जीबी) की क़ीमत चार सौ पाउंड यानी कि क़रीब 36 हज़ार रुपए से घटाकर 279 पाउंड यानी की क़रीब 25 हज़ार रुपए कर दी है. इसके 64 जीबी की क्षमता वाले मॉडल की क़ीमत भी इतनी ही घटकर 359 पाउंड यानी की क़रीब 33 हजार रुपए कर दी गई है.

वहीं अमरीका में ब्लैकबेरी ने अपने मोबाइल फ़ोन ज़ेड-10 की क़ीमत 199 डॉलर यानी कि क़रीब 12 हज़ार रुपए से घटाकर 49 डॉलर यानी की क़रीब तीन हज़ार रुपए कर दी है.

इन दोनों कंपनियों ने इन मॉडलों को अपने नवीनतम साफ़्टवेयर के प्रदर्शन के लिए बनाया है.

करना है मुक़ाबला

ये दोनों कंपनियां स्मार्टफ़ोन और टैबलेट के बाज़ार में ऐपल, गूगल और सैंमसंग से मुक़ाबला कर रही हैं. इसमें इन्हें थोड़ी-बहुत सफलता मिली है.

टेलीफ़ोन बाज़ार के विश्लेषक टोनी क्रिप्स ने बीबीसी से कहा, ''दोनों कंपनियों के लिए यह एक बड़ा समझौता है.''

उन्होंने कहा, ''इस वर्ग में ऐपल और सैमसंग से मुक़ाबला करना काफ़ी कठिन काम है. ऐसे समय जब बाज़ार पर एक-दो खिलाड़ियों का ही नियंत्रण हो तो उत्पादों की क़ीमतें अधिक रखना मुश्किल फ़ैसला होगा.''

अमरीकी बाज़ार में सबसे सस्ते सरफ़ेस टैबलेट की क़ीमत 499 डॉलर यानी की क़रीब 30 हज़ार रुपए से घटकर 349 डॉलर यानी की क़रीब 21 हज़ार रुपए पर आ गई है.

स्मार्टफ़ोन के बाज़ार में अपना हिस्सा हासिल करने के लिए ब्लैकबेरी टचस्क्रीन वाले अपने एक मात्र सेट ज़ेड-10 के ज़रिए संघर्ष कर रही है. इसमें नया बीबी 10 ऑपरेटिंग सिस्टम लगा है.

उपभोक्ता ज़ेड-10 को अमरीका में मोबाइल सेवा देने वाली कंपनी एटीएंडटी और वेरीजान वायरलेस से दो साल के समझौते के साथ 99 डॉलर में ख़रीद सकते हैं. इसे अमेज़न और बेस्ट वाई से 49 डॉलर में ख़रीदा जा सकता है.

लेकिन अभी यह साफ़ नहीं है कि ब्रिटेन में कांट्रैक्ट पर फ़ोन ख़रीदने की उम्मीद लगाए बैठे लोगों पर क़ीमतों में यह कमी लागू होगी कि नहीं.

मिलियन डॉलर का घाटा

ब्लैकबेरी ने कहा है कि पिछली तिमाही में उसे आठ करोड़ 40 लाख डॉलर का घाटा हुआ है. कंपनी ने यह बताने से इनकार कर दिया है कि उसने ऑपरेटिंग सिस्टम बीबी 10 वाले कितने हैंडसेट बेचे हैं.

कंपनी ने कहा है कि उसने 2013 के पहले तीन महीनों में दस लाख ज़ेड-10 हैंडसेट बेचे हैं.

टोनी क्रिप्स कहते हैं, ''इसी संदर्भ में अगर देखें तो माइक्रोसाफ़्ट के लिए सरफ़ेस की सफलता बहुत बड़ी बात नहीं है. लेकिन अगर वह चाहते हैं कि भविष्य में विंडोज-8 महत्वपूर्ण ऑपरेटिंग सिस्टम बने तो उन्हें इसे अधिक से अधिक लोगों के हाथों में पहुंचाना होगा.''

विश्लेषकों के मुताबिक़ जनवरी, फ़रवरी और मार्च में चार करोड़ 90 लाख से अधिक टैबलेट बेचे गए. इनमें से क़रीब 90 लाख सरफ़ेस था.

विंडोज पर आधारित क़रीब 18 लाख टैबलेट दुनिया भर में बेचे गए.

इसके अलावा माइक्रोसाफ़्ट सरफेस प्रो भी बेच रहा है, जो पूरी तरह विंडोज़ आठ से चलता है. इसकी क़ीमतें 899 डॉलर यानी की क़रीब 54 हज़ार रुपए से शुरू होती हैं. इनकी क़ीमतों में कोई कटौती नहीं की गई है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहाँ क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार