पकड़े गए उत्तर कोरियाई जहाज़ के चालक दल पर आरोप तय

क्यूबा के मुताबिक सोवियत संघ जमाने के पुराने हथियार मरम्मत के लिए जा रहे थे.

क्यूबा से हथियार लेकर उत्तर कोरिया जा रहे जहाज़ के चालक दल के खिलाफ़ पनामा के अधिकारियों ने आरोप तय कर दिए हैं.

उन पर जनता की सुरक्षा को खतरा में डालने और जहाज़ पर हथियार होने की घोषणा न करने के आरोप तय किए गए हैं. जहाज़ पर हथियारों के साथ-साथ रडार प्रणाली और फाइटर जैट भी ले जाए जा रहे थे.

इससे पहले बुधवार को क्यूबा ने स्वीकार किया कि पनामा में पकड़े गए उत्तर कोरियाई जहाज़ पर छिपाकर रखे गए हथियार उसके हैं.

क्यूबा के विदेश मंत्रालय के मुताबिक जहाज़ सोवियत संघ के समय के पुराने हथियारों को लेकर उत्तर कोरिया जा रहा था और हथियार मरम्मत के बाद वापस क्यूबा आने थे.

पिछले हफ़्ते चीनी के बोरों के बीच छिपाकर रखे गए हथियार मिलने पर पनामा के अधिकारियों ने ये जहाज़ ज़ब्त कर लिया था.

विवादित परमाणु कार्यक्रम के कारण संयुक्त राष्ट्र ने उत्तर कोरिया को हथियार भेजे जाने पर प्रतिबंध लगा रखा है. क्यूबा संयुक्त राष्ट्र का सदस्य देश है.

क्यूबा के विदेश मंत्रालय की ओर से जारी बयान में कहा गया, "क्यूबा शांति, निरस्त्रीकरण, परमाणु निरस्त्रीकरण और अंतरराष्ट्रीय कानूनों के सम्मान के प्रति अपनी प्रतिबद्धता को दोहराता है."

क्या आज भी टैंकों के सहारे युद्ध जीता जा सकता है?

पुराने हथियार

क्यूबा के मुताबिक जहाज़ में 240 टन वजनी पुराने पड़ चुके रक्षात्मक हथियार थे. इसमें दो विमानरोधी मिसाइल प्रणालियाँ, हिस्सों और पुर्जों में 9 मिसाइलें, 2 मिग-21 विमान और 15 मिग इंजन थे.

क्यूबा के बयान में कहा गया कि सभी हथियार पुराने थे और मरम्मत के बाद वापस क्यूबा आने थे.

Image caption जहाज़ में दस हजार टन चीनी भी लदी थी.

बयान में कहा गया कि जहाज़ पर दस हजार टन चीनी भी लदी थी.

'चोंग जोन गैंग' नाम का यह जहाज़ 12 अप्रैल को रूस के पूर्वी छोर से गुज़रा था और प्रशांत महासागर होते हुए जून में पनामा नहर में दाख़िल हुआ था. इसे क्यूबा पहुँचना था.

पनामा के अधिकारियों के मुताबिक क्यूबा की ओर जाते वक्त इसमें धातु की चादरें थीं.

लेकिन पनामा नहर के कैरिबियाई छोर से गुजरने के बाद यह सेटेलाइट ट्रैकिंग सिस्टम से गायब हो गया था. इसके बाद यह 11 जुलाई को दोबारा दिखा था.

विशेषज्ञों के मुताबिक़ जहाज़ के चालक दल ने स्थान की जानकारी देने वाले उपकरणों को बंद कर दिया था.

पनामा के अधिकारियों ने शक होने पर जहाज़ से संपर्क स्थापित करने की कोशिश की. शुरू में अधिकारियों को इसमें नशीले पदार्थ होने का शक था.

जब जहाज ने कोई जबाव नहीं दिया तो इसे रोक लिया गया और तलाशी में हथियार मिले.

ओबामा ने की परमाणु हथियार कम करने की अपील

मजबूत रिश्ते

क्यूबा और उत्तर कोरिया दोनों साम्यवादी देश हैं और दोनों के आपस में मजबूत रिश्ते हैं.

जून के अंत में उत्तर कोरिया का एक उच्चस्तरीय सैन्य दल क्यूबा गया था जिसकी अगवानी राष्ट्रपति राउल कास्त्रो ने की थी. उस समय क्यूबा के मीडिया ने कहा था कि दोनों देशों ने एक दूसरे को जोड़े रखने वाले ऐतिहासिक संबंधों पर चर्चा की और आपसी संबंधों को और मजबूत करने की मंशा प्रकट की.

Image caption हथियारों से लदे जहाज़ के पकड़े जाने पर अमरीका ने खुशी जाहिर की है.

हथियारों की तस्करी के विशेषज्ञ हग ग्रिफिथ ने बीबीसी को बताया कि इस जहाज़ की यात्रा को दोनों देशों के बीच फिर से मजबूत हो रहे सैन्य सहयोग से जोड़ कर देखा जा रहा है.

मंगलवार को पनामा के राष्ट्रपति रिकार्डो मार्टिनैली ने ट्विटर पर जहाज़ की फोटो पोस्ट करते हुए इसमें अत्याधुनिक मिसाइल उपकरण होने की जानकारी दी थी.

पनामा के मुताबिक अभी जहाज़ पर लदे पाँच में से एक कंटेनर की ही जाँच हो सकी है और पूरे जहाज की जाँच में एक सप्ताह तक का वक्त लग सकता है.

विश्वयुद्ध में वेश्याओं का इस्तेमाल सही था?

तलाशी का समर्थन

पनामा के राष्ट्रपति के मुताबिक चालक दल के 35 सदस्यों ने जाँच का विरोध किया था और जहाज के कप्तान ने खुद को गोली मारने की कोशिश की थी.

पनामा की कार्रवाई की तारीफ़ करते हुए अमरीका ने कहा कि वह पूरे जहाज़ की तलाशी का समर्थन करता है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहाँ क्लिक कर सकतें हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार