पाक: आईएसआई के दफ्तरों पर हमला, पांच मरे

  • 25 जुलाई 2013
आईएसआई कार्यालयों पर हमले
Image caption बेहद सुरक्षा वाले इलाके में ये हमले हुए हैं

पाकिस्तान के सिंध प्रांत में देश की खुफिया एजेंसी आईएसआई के दफ्तरों पर हुए हमलों में कम से कम पांच लोग मारे गए हैं और 30 से ज्यादा घायल हुए हैं.

अधिकारियों के अनुसार सक्कर शहर में बुधवार को चरमपंथियों ने एक परिसर को निशाना बनाया जिसमें आईएसआई समेत कई सुरक्षा एजेंसियों के दफ्तर हैं.

पढ़िए: पाकिस्तान की राजनीति पर आईएसआई की नज़र

धमाके के कारण कुछ इमारतें गिर भी गईं जिनके नीचे लोगों के दबे होने की आशंका है.

पुलिस का कहना है कि उन्होंने परिसर पर नियंत्रण कर लिया है.

अधिकारियों के अनुसार जवाबी कार्रवाई में तीन हमलावर भी मारे गए हैं.

'निशाने पर आईएसआई'

सरकारी टीवी के अनुसार सक्कर शहर में हमलावरों ने आईएसआई और अन्य सुरक्षा एजेंसियों के कार्यालयों के पास चार विस्फोट किए.

धमाकों के बाद घटनास्थल से गोलीबारी की आवाजें भी सुनी गईं. सक्कर प्रांतीय राजधानी कराची से पांच सौ किलोमीटर दूर है.

अधिकारियों के अनुसार हमलावरों की संख्या दस तक थी और उन्होंने अति सुरक्षा वाले इस परिसर को निशाना बनाया.

Image caption इन हमलों में तीस से ज्यादा लोग घायल भी हुए हैं

बीबीसी संवाददाता के अनुसार जिस जगह विस्फोट हुए उसी इलाके में आईएसआई के कार्यालय के अलावा जिले के कमिश्नर, डिप्टी कमिश्नर और जजों के निवास मौजूद हैं.

सरकारी टीवी की रिपोर्ट में सक्कर के पुलिस डीआईजी जावेद ओढ़ों के हवाले से कहा गया है कि ऐसा लगता है कि इन धमाकों में आईएसआई के दफ्तर को निशाना बनाया गया है.

'नवाज पर दबाव'

किसी भी गुट ने अभी तक इस हमले की की जिम्मेदारी नहीं ली है.

पाकिस्तान में पिछले महीने प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के सत्ता संभालने के बाद से कई चरमपंथी हमले हुए हैं जिनके लिए अकसर पाकिस्तानी तालिबान को जिम्मेदार ठहराया जाता है.

पर्यवेक्षकों का कहना है कि शरीफ पर ये बताने का दवाब बढ़ता जा रहा है कि वो कैसे चरमपंथी हिंसा पर नियंत्रण करेंगे. हालांकि उन्होंने इस बारे में कदम उठाने का वादा किया है.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार