एक दशक तक महिलाओं को बंदी बना बलात्कार करने वाले को उम्र क़ैद

एरियल कास्त्रो
Image caption एरियल कास्त्रो ने तीन महिलाओं को एक दशक तक क़ैद करके रखा

अमरीका में एरियल कास्त्रो नाम के उस व्यक्ति को पूरा जीवन जेल में बिताना होगा जिस पर करीब एक दशक तक तीन महिलाओं को अपने घर पर अग़वा कर उनके साथ बलात्कार करने का आरोप था.

एरियल कास्त्रो ने एक समझौते के तहत जीवन भर जेल में बिताने की सज़ा स्वीकार की है और वे बाहर नहीं आ सकेंगे.

बेटी को 24 साल क़ैद रखा, अब तहखाना पाटा जाएगा

53 साल के कास्त्रो ने 2002-04 के बीच 32 साल की मिशेल नाइट, 27 साल की अमांडा बेरी और 23 साल क गीना का अपहरण किया. मिशेल नाइट का 2002 में जब अपहरण हुआ था तो वे 20 साल की थीं. अगले साल अमांडा अपने 17वें जन्मदिन से पहले ग़ायब हो गईं जबकि 2004 में जीना 14 साल की उम्र में लापता हुई.

आरोप था कि कास्त्रो ने इनमें से एक गर्भवती महिला को पीटा, उसे लगातार भूखा रखा और उसका गर्भपात हो गया.

'खंभे और हीटर से बाँध कर रखा'

Image caption इन महिलाओं को 2002 और 2004 के बीच अग़वा किया गया था

पेशे से स्कूल बस ड्राइवर रहे कास्त्रो को कोर्ट में जज ने आगाह किया कि वे कभी जेल से बाहर नहीं आ पाएँगे.

समझौते के तहत कास्त्रो को अतिरिक्त एक हज़ार साल की जेल की सज़ा होगी और उनकी संपत्ति ज़ब्त कर ली जाएगी. उन्हें यौन प्रताड़ना करने वालों की श्रेणी में डाला जाएगा.

जज ने कहा है कि जिस घर में महिलाओं को रखा गया था उसे तोड़े जाने की योजना है.

सुनवाई के दौरान कास्त्रो ने कहा, “बचपन में मेरा यौन शोषण हुआ. मुझे पोर्नोग्राफ़ी की लत लग गई. मेरी यौन समस्या का असर मेरे दिमाग़ पर हुआ.”

उन पर अपहरण, बलात्कार समेत 977 आरोप लगे हैं.

जिस घर में कास्त्रो ने महिलाओं को रखा हुआ था, वहाँ पड़ोसियों का कहना है कि उन्हें लगता था कि वहाँ कोई नहीं रहता.

आख़िरकर महिलाओं को तब बचाया गया जब अमांडा नाम की अग़वा महिला दरवाज़ा तोड़ पाने में सफल रही. एक पड़ोसी ने उनकी चीखें सुनीं और मदद की. कोस्त्रो से अमांडा की एक बच्ची भी थी.

कास्त्रो पर आरोप है कि उन्होंने इन महिलाओं को एक खंभे और एक हीटर से बाँध कर रखा.

क़ैद से छूटने के बाद तीनों महिलाएँ कई महीने बाद एक वीडियो में दिखाई दीं जहाँ उन्होंने लोगों का शुक्रिया अदा किया. उन्होंने निजता का सम्मान करने की गुज़ारिश की है.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार