शादी से पहले कुँआरेपन का टेस्ट?

  • 27 जुलाई 2013
शादी, जोड़ा, दुल्हा-दुल्हन
Image caption ‘कौमार्य परीक्षण’ की सेवा तक़रीबन छह हज़ार रुपए में उपलब्ध है.

कभी सोवियत संघ का हिस्सा रहे जॉर्जिया में ऐसे मामले देखे जा रहे हैं जिनमें दुल्हन बनने जा रही लड़कियों को शादी से पहले अपने कुँवारेपन का इम्तिहान देना पड़ रहा है.

इमेडी टीवी की ख़बर के मुताबिक जॉर्जिया में 'दि इंडिपेंडेंट नेशनल फॉरेंसिक्स ब्यूरो' ने 'कौमार्य परीक्षण' सेवा की पेशकश 69 पाउंड यानी तक़रीबन छह हज़ार रुपए में की है.

यही नहीं, अगर इसका इस्तेमाल कर रहा व्यक्ति टेस्ट जल्दी कराना चाहता है, तो उसे दोगुनी रक़म चुकानी पड़ सकती है.

राष्ट्रीय आँकड़ों के मुताबिक यह रक़म उस खर्च से बड़ी है, जो औसतन एक आदमी महीने भर में खर्च करता है.

'कौमार्य परीक्षण' की सेवा लेने वाली ज्यादातर महिलाओं के साथ उनके रिश्तेदार, उनके होने वाले पति और कभी-कभार तो सास भी होती हैं.

मेडिकल मामलों की समझ रखने वाले एक जानकार एका शावलेश्विली ने इमेडी टीवी को बताया, "बहुत से मामलों में वे ख़ुशी-ख़ुशी वापस लौटते हैं.ख़ासकर उन मामलों में जब उन्हें सच पता चल जाता है, लेकिन वही सच जो उन्हें स्वीकार्य होता है."

कुँवारेपन को लेकर कई धारणाएं

इस पारंपरिक ईसाई देश में शादी से पहले कुँवारेपन से जुड़ी अवधारणाएं गहराई से जड़ें जमाई हुए हैं. हालांकि कौमार्य परीक्षण को लेकर हर कोई ख़ुश भी नहीं है.

टीवी को दिए साक्षात्कार में एक महिला ने इसे 'घिनौना' बताया.

उन्होंने टीवी रिपोर्टर से कहा, "अगर मुझे यह करने के लिए कहा गया तो मैं इनकार कर दूंगी. अगर मुझे किसी के साथ सारी जिंदगी गुज़ारनी है, तो उसे मुझ पर भरोसा करना चाहिए."

इंटरनेट पर भी इस 'कौमार्य परीक्षण' सेवा का खूब मज़ाक उड़ाया गया है. इस सिलसिले में इंटरनेट पर आईडी कार्ड (परिचय पत्र) की तस्वीर का प्रसार किया जा रहा है.

खास बात यह है कि इस आई़डी कार्ड में कुँआरेपन की स्थिति बताने के लिए एक खाली जगह रखी गई है.

( बीबीसी मॉनिटरिंग दुनिया भर के टीवी, रेडियो, वेब और प्रिंट माध्यमों में प्रकाशित होने वाली ख़बरों पर रिपोर्टिंग और विश्लेषण करता है. आप बीबीसी मॉनिटरिंग की खबरें ट्विटर और फेसबुक पर भी पढ़ सकते हैं.)

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार