पाकिस्तान में ड्रोन हमले जल्द बंद होंगे: अमरीका

  • 2 अगस्त 2013
जॉन केरी
Image caption अमरीकी ड्रोन हमलों के ख़िलाफ पाकिस्तान में नाराज़गी है.

अमरीकी विदेश मंत्री जॉन केरी ने कहा है कि अमरीका 'बहुत जल्द' ही पाकिस्तान में चरमपंथियों के ख़िलाफ ड्रोन हमले बंद करेगा.

ये पहली बार है जब अमरीका ने पाकिस्तान-अफ़गानिस्तान सीमा पर ड्रोन हमले बंद करने की बात कही है. केरी ने ये बात अपने पाकिस्तान दौरे पर कही है.

बीबीसी संवाददाताओं का कहना है कि केरी की टिप्पणी को पाकिस्तान में अमरीका विरोधी भावनाएं ख़त्म करने की कोशिश के तौर पर देखा जा रहा है.

जॉन केरी ने एक टेलीविज़न इंटरव्यू में कहा, "मुझे लगता है कि ये कार्यक्रम जल्द बंद होगा क्योंकि हमने ज़्यादातर ख़तरा ख़त्म कर दिया है और बाक़ी ख़त्म करने की कोशिश कर रहे हैं. राष्ट्रपति के पास एक समयसीमा है और हमें उम्मीद है कि ये बहुत जल्दी ख़त्म होगा."

अमरीकी विदेश मंत्री केरी ने उच्च स्तरीय सुरक्षा वार्ता भी फिर से शुरू करने पर सहमति जताई है.

पाकिस्तान और अमरीका के बीच सुरक्षा वार्ता साल 2011 में अफगानिस्तान सीमा पर अमरीकी ड्रोन हमले में 24 पाकिस्तानी सैनिकों की मौत के बाद रोक दी गई थी.

'संप्रभुता का उल्लंघन'

पाकिस्तान में साल 2004 से अब तक सीआईए के ड्रोन हमलों में 3460 लोग मारे गए हैं.

ज़्यादातर ड्रोन हमले उत्तरी वज़ीरिस्तान में होते हैं जिसे अल-क़ायदा और तालिबान का गढ़ समझा जाता है.

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ ने कल जॉन केरी से मुलाकात की थी. नवाज़ शरीफ़ ड्रोन हमलों को बंद करने की मांग करते रहे हैं, उनका कहना है कि इन हमलों से पाकिस्तान की संप्रभुता का उल्लंघन होता है.

Image caption शरीफ़ की मांग है कि अमरीका ड्रोन हमले बंद करे

नवाज़ शरीफ़ से मुलाकात के बाद जॉन केरी ने कहा कि उनकी बातचीत 'सकारात्मक' रही है.

नवाज़ शरीफ़ के विदेश मामलों के सलाहकार सरताज अज़ीज़ ने पत्रकारों से कहा कि अमरीका को ड्रोन हमले बंद करने चाहिए 'न कि सिर्फ़ कटौती करनी चाहिए'.

बीबीसी संवाददाताओं का कहना है कि ये मुद्दा पेचीदा है क्योंकि कई पाकिस्तानी अधिकारियों पर ये आरोप लगते रहे हैं कि वो सार्वजनिक रूप से तो ड्रोन हमलों की आलोचना करते हैं लेकिन निजी रूप से इन हमलों में सहयोग करते हैं.

जानकारों का मानना है कि केरी की टिप्पणी बराक ओबामा के मई के भाषण में कही गई बातों से आगे की बात है.

बराक ओबामा ने 23 मई के भाषण में कहा था कि 2014 के अंत तक अमरीकी सेनाओं की अफ़गानिस्तान से वापसी तक अफ़गानिस्तान और पाक-अफ़गान सीमा पर ड्रोन हमलों में कमी आएगी.

बीते 30 महीनों में ड्रोन हमलों की संख्या में काफ़ी कमी आई है. न्यू अमरीका फाउंडेशन के मुताबिक 2011 में 73 ड्रोन हमले हुए थे जबकि 2012 में ये संख्या 48 थी और 2013 में अब तक 17 ड्रोन हमले हुए हैं.

(क्या आपने बीबीसी हिन्दी का नया एंड्रॉएड मोबाइल ऐप देखा? डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार