फिर खुलेंगे अमरीकी दूतावास

  • 10 अगस्त 2013
यमन दूतावास
Image caption सना स्थित दूतावास पर चरमपंथी हमलों का ख़तरा बना हुआ है

अमरीका का कहना है कि सुरक्षा के मद्देनज़र बंद किए गए 19 में से 18 दूतावास रविवार को फिर खोल दिए जाएंगे. इन्हें चरमपंथी हमले की धमकी देखते हुए अस्थायी रूप से बंद कर दिया गया था.

अमरीकी गृह विभाग के अनुसार “यमन की राजधानी सना स्थित दूतावास को ऐसे ही एक ख़तरे के कारण बंद रखा जाएगा."

पाकिस्तान में लाहौर स्थित वाणिज्य दूतावास को ऐसे ही सुरक्षा कारणों से बंद किया था. उसे भी नहीं खोला जा रहा है.

मध्य पूर्व और उत्तरी अफ्रीका के 19 अमरीकी दूतावास चरमपंथी हमलों की आशंका के कारण पिछले रविवार से बंद हैं.

अमरीकी गृह विभाग के प्रवक्ता जेन साकी ने कहा कि “हम सना और लाहौर दूतावासों को मिली धमकियों का लगातार मूल्यांकन करते रहेंगे. नई सूचनाओं के आधार पर वहां के दूतावास फिर खोलने का निर्णय लिया जाएगा.”

चरमपंथी हमले की आशंका

अमरीकी अधिकारियों का कहना है, ''हम अपने सभी दूतावास और वहां से मिलने वाली सूचनाओं पर नज़र रखे हुए हैं, ताकि दूतावास के कर्मचारियों और विदेश यात्रा करने वाले नागरिकों और आगंतुकों की बेहतर सुरक्षा के लिए ज़रूरी कदम उठाए जा सकें.

अमरीकी गृह विभाग के वक्तव्य में कहा गया है कि अल क़ायदा के चरमपंथी हमले के मद्देनज़र सना दूतावास के अधिकांश कर्मचारियों को मंगलवार को देश छोड़ने के आदेश दे दिए गए थे.

दूतावास बंद करने और दुनियाभर में विदेश यात्रा को लेकर चेतावनी अल क़ायदा के कथित संदेश के बाद जारी की गई थी. इसमें दावा किया गया था कि अल क़ायदा के सदस्य एक दूतावास पर हमले की चर्चा कर रहे थे.

इससे पहले अमरीका ने लाहौर स्थित दूतावास को संभावित ख़तरे की आशंका के कारण बंद किया था और अतिरिक्त कर्मचारियों को वापस बुला लिया था.

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फ़ेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार