अफ़ग़ानिस्तान में महिला सांसद का अपहरण

  • 14 अगस्त 2013
अफ़ग़ानिस्तान की एक महिला
Image caption आजकल अफ़ग़ानिस्तान में महिलाओं पर हमले बढ़ गए हैं

अफ़ग़ानिस्तान के अधिकारियों ने कहा है कि तालिबान ने एक महिला सांसद को उस समय अगवा कर लिया जब वो अपने बच्चों के साथ राजधानी काबुल के दक्षिण में ग्रामीण इलाक़े से गुजर रही थीं.

पुलिस ने कहा है कि फ़ारिबा अहमदी काकर को हथियारबंद आदमियों ने उस समय अगवा कर लिया जब वो अपनी तीन बेटियों के साथ मध्य गजनी प्रांत में थीं.

यह पहली बार है कि जब चरमपंथियों ने किसी महिला सांसद का अपहरण किया है.

अपहरणकर्ताओं की माँग

पुलिस ने बताया कि अपहरणकर्ताओं ने काकर की रिहाई के बदले में जेलों में बंद चार तालिबान के चार सदस्यों को छोड़ने की मांग की है.

एक अभियान में काकर के बच्चों को रिहा करा लिया गया है. यह नैटो सुरक्षा बलों और अफ़ग़ानिस्तान की ख़ुफिया सेवा का एक साझा अभियान था. कहा जा रहा है कि काकर को किसी अन्य जगह पर रखा गया है.

काबुल में मौजूद बीबीसी संवाददाता कारेन एलन का कहना है कि काकर का अपहरण अफ़ग़ानिस्तान में प्रमुख महिलाओं के खिलाफ हुए अपराधों में कुछ अलग है.

हमारे संवाददाता का कहना है कि ऐसे में जब अगले साल के अंत में नैटो के सैनिक अफ़ग़ानिस्तान से जाने की तैयारी कर रहे हैं, अफगानी महिलाओं के लिए वास्तविक चिंताएं उभरने लगी हैं.

अभी पिछले महीने ही हेलमंद प्रांत में एक वरिष्ठ महिला पुलिस अधिकारी को उस समय गोली मार दी गई थी जब वो काम पर जा रही थीं.

वहीं पिछले हफ़्ते अफ़ग़ानी सिनेटर रूह गुल अपने पति के साथ एक हमले में बाल-बाल बच गई थीं. जबकि इस हमले में उनकी बेटी की मौत हो गई थी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार