न्यूज़ीलैंड में बना गत्ते का गिरजाघर

  • 15 अगस्त 2013
गत्ते का गिरजाघर
Image caption गत्ते से बना यह गिरजाघर 50 साल तक चलेगा.

न्यूज़ीलैंड के क्राइस्टचर्च शहर में गत्ते से बने गिरजाघर का निर्माण पूरा हो गया है और इसी के साथ इस चर्च में दोबारा प्रार्थना की जा सकेगी.

चर्च के अधिकारियों ने कहा कि इस चर्च का निर्माण शहर में हो रहे पुनर्निर्माण के प्रयासों में एक उल्लेखनीय उपलब्धि है.

मोटे गत्ते की ट्यूब से बना यह गिरजाघर 2011 के भूकंप में क्षतिग्रस्त गिरजाघर के स्थान पर अस्थायी तौर पर बनाया गया है. पक्का गिरजाघर बन जाने पर इसे हटा लिया जाएगा.

22 फ़रवरी, 2011 को आए भूकंप में 185 लोगों की जान चली गई थी और बहुत सी इमारतें क्षतिग्रस्त हो गई थीं.

6.3 तीव्रता वाले इस भूकंप में उन्नीसवीं सदी में बना ओल्ड क्राइस्ट गिरजाघर क्षतिग्रस्त हो गया था. मार्च में चर्च के अधिकारियों ने कहा था कि इस चर्च का पुनर्निर्माण संभव नहीं है.

गत्ते के इस गिरजाघर को जापानी वास्तुकार शिगेरू बैन ने डिज़ाइन किया है. ए-फ़्रेम वाले इस त्रिभुजाकार डिज़ाइन में रंगीन कांच की खिड़कियाँ लगी हैं. इसमें 700 लोगों के बैठने की जगह है और यह 50 साल तक टिका रह सकता है.

वाटरप्रूफ़ गिरजाघर

यह गिरजाघर वाटरप्रूफ़ बनाया गया है लेकिन पिछली बरसात में इसकी कुछ ट्यूबें तेज़ बारिश में भीगने का कारण नम हो गई थीं और उन्हें बदलकर नई ट्यूबें लगानी पड़ी थीं.

चर्च की कार्यकारी डीन लिंडा पैटर्सन ने समाचार एजेंसी एएफ़पी को बताया, ''इस गिरजाघर का शहर के लिए ख़ास महत्व है. यह चर्च क्राइस्टचर्च शहर की पहचान है. यह चर्च दर्शाता है कि यह शहर फिर से एकजुट हो रहा है और फिर से निर्मित हो रहा है.''

समुदाय को लोगों को एक बार फिर से गिरजाघर वापस मिलेगा. जहाँ वो शांतिपूर्वक पूजा-प्रार्थना कर सकते हैं. हम यहाँ संगीत और कला प्रदर्शनियों का भी आयोजन कर सकते हैं.”

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार