सीरिया: सैन्य कार्रवाई के ख़िलाफ़ ब्रितानी जनता

Image caption ब्रिटेन की जनता सीरिया में सैन्य कार्रवाई का विरोध कर रही है.

बीबीसी के एक सर्वेक्षण से पता चला है कि इंग्लैंड, स्कॉटलैंड और वेल्स में तीन चौथाई लोग सोचते हैं कि सीरिया पर सैन्य कार्रवाई में शामिल होने से सरकार को रोककर सांसदों ने सही किया.

सीरिया पर आरोप है कि उसने अपने नागरिकों पर रासायनिक हथियारों का इस्तेमाल किया, जिसे सीरिया इनकार करता है.

सर्वेक्षण से यह भी पता चला है कि 72 प्रतिशत लोग ऐसा नहीं मानते हैं कि इससे अमरीका के साथ ब्रिटेन के संबंधों को नुकसान होगा और अगर ऐसा होता भी है तो दो-तिहाई लोगों को इसकी कोई परवाह नहीं है.

आईसीएम रिसर्च ने टेलीफोन के जरिए 1,000 वयस्कों से बात की. यह बातचीत शुक्रवार को शुरू हुई और सोमवार को पूरी हुई.

इस दौरान अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कहा कि वह सैन्य कार्रवाई के बारे में कांग्रेस की राय लेंगे और अमरीकी विदेश मंत्री जॉन केरी ने कहा कि वॉशिंगटन के पास इस बात के सबूत हैं कि सीरियाई सरकार ने नर्व एजेंट सारिन का इस्तेमाल किया.

समर्थन में पुरुष आगे

इस साक्षात्कार में ब्रिटेन के सभी हिस्सों से सभी वयस्कों के जनसांख्यकीय प्रोफाइल का ध्यान रखा गया.

सर्वेक्षण से पता चला है कि 71 प्रतिशत लोग सोचते हैं कि पिछले सप्ताह संसद ने सही निर्णय लिया.

Image caption सीरिया पर हमले के लिए डेविड कैमरन को ब्रिटेन की संसद की मंजूरी नहीं मिल सकी है. दूसरी ओर अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा कांग्रेस की सहमति हासिल करने की कोशिश कर रहे हैं.

इस सर्वेक्षण के नतीजे मोटेतौर पर ऐसे ही सवालों को पूछने वाले दूसरे जनमत सर्वेक्षणों के अनुरूप हैं.

इसमें यह निष्कर्ष भी सामने आया है कि बड़ी संख्या में लोग सीरिया में ब्रिटिश सेना के हस्तक्षेप के खिलाफ हैं.

सांसदों के निर्णय को सही मानने के लिहाज से पुरुषों की संख्या महिलाओं के मुकाबले थोड़ी सी अधिक थी. सर्वेक्षण में 72 प्रतिशत पुरुषों ने माना की सांसदों का निर्णय सही था, जबकि महिलाओं के मामले में यह आंकड़ा 70 प्रतिशत रहा.

मतदाताओं की राय

सर्वेक्षण में शामिल जिन लोगों ने पिछले आम चुनाव में वोट दिया था, उनमें लिबरल डेमोक्रेट मतदाताओं ने संसद के निर्णय की अधिक सराहना की. 2010 में लिबरल डेमोक्रेट को वोट देने वाले 83 प्रतिशत लोगों ने कहा कि सांसदों ने सही निर्णय किया.

दूसरी ओर लेबर पार्टी को वोट देने वाले 77 प्रतिशत मतदाताओं ने और कंजरवेटिव मतदाताओं में 72 प्रतिशत ने माना कि सांसदों का निर्णय सही है.

करीब आधे लोगों (49%) से पूछा गया कि क्या इस निर्णय से ब्रिटेन की अंतरराष्ट्रीय प्रतिष्ठा को नुकसान पहुंचेगा, इस पर 16 प्रतिशत का सोचना था कि इससे देश की प्रतिष्ठा को काफी नुकसान होगा.

Image caption ब्रिटेन की संसद 'हाउस ऑफ़ कॉमन्स' में सीरिया पर संभावित सैन्य कार्रवाई का प्रस्ताव 13 वोट से गिर गया.

जबकि 44 प्रतिशत लोगों का मानना था कि इससे कोई फर्क नहीं पड़ेगा.

इस बारे में जिन लोगों की उम्र 35 साल से कम थी, वो थोड़ा अधिक चिंतित दिखे. उनमें 57 प्रतिशत इस बात से सहमत थे कि देश की प्रतिष्ठा को नुकसान होगा.

कैसा रहा नेताओं का प्रदर्शन?

सर्वेक्षण से यह भी पता चला है कि 33 प्रतिशत लोग लेबर पार्टी के नेता एड मिलिबैंड के रुख से सहमत हैं जबकि 39 प्रतिशत लोगों से इसके खिलाफ राय दी.

सर्वेक्षण में शामिल जिन लोगों ने पिछले आम चुनावों में लेबर पार्टी को वोट दिया था, उनमें 51 प्रतिशत ने मिलिबैंड के रुख को सही ठहराया जबकि 25 प्रतिशत इससे सहमत नहीं थे.

जिन लोगों से सवाल पूछे गए उनमें से 40 प्रतिशत ने प्रधानमंत्री के प्रदर्शन को सही ठहराया, जबकि 42 प्रतिशत निराश हुए.

सर्वेक्षण में शामिल जिन लोगों ने पिछले आम चुनावों में कंजरवेटिव पार्टी को वोट दिया था, उनमें 61 प्रतिशत डेविड कैमरन के नजरिए से सहमत थे, जबकि 27 प्रतिशत ने उसे नकार दिया.

शुद्ध अनुमोदन रेटिंग के लिहाज से इस सर्वेक्षण में दोनों नेताओं का प्रदर्शन हाल के अनुमोदन रेटिंग के मुकाबले बेहतर रहा है.

इस साल मई में आईसीएम के जनमत में डेविड कैमरन की अनुमोदन रेटिंग नकारात्मक रूप से 15 और एड मिलिबैंड की अनुमोदन रेटिंग नकारात्मक रूप से 22 थी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार