सीरिया मामले में अमरीका की चेतावनी

Image caption अमरीका और पश्चिमी देश सीरिया पर रासायनिक हमले के आरोप लगा रहे हैं

अमरीका ने चेतावनी दी है कि सीरिया में रासायनिक हथियारोंके मामले में रूसी योजना को हमले में देरी की वजह नहीं बनाया जा सकता.

अमरीकी विदेश मंत्री जॉन केरी का कहना है कि योजना तेज़ और सत्यापन योग्य होनी चाहिए. उन्होंने चेतावनी दी कि इसका क्रियान्वयन बहुत कठिन होगा.

इससे पहले सीरिया ने कहा था कि वो रूसी योजना के तहत रासायनिक हथियारों को अंतरराष्ट्रीय नियंत्रण में सौंपने को तैयार है.

अमरीका, ब्रिटेन और फ्रांस इस मुद्दे पर संयुक्त राष्ट्र में एक प्रस्ताव रखना चाहते हैं लेकिन रूस ने पहले ही इसका विरोध किया हुआ है.

इस प्रस्ताव के ज़रिए सीरिया से कहा जाएगा कि वो सार्वजनिक रूप सेघोषणा करे कि उसके रासायनिक हथियारों की एक योजना है. साथ ही उसे उन जगहों की भी घोषणा करनी होगी जहां ये हथियार रखे हुए हैं और इन्हें नष्ट करना होगा.

विवाद

ब्रितानी प्रधानमंत्री डेविड कैमरन का कहना है कि ये प्रस्ताव इस तरह से तैयार किया गया था ताकि ये सुनिश्चित हो सके कि रूस की पेशकश एक चाल नहीं बन सके.

उन्होंने कहा, "यदि ऐसा नहीं हुआ है तो हमें एक समुचित समय सारणी, प्रक्रिया और निष्कर्ष चाहिए."

वहीं फ्रांस के विदेश मंत्री लॉरेंट फ़ेबियस ने मंगलवार को रूसी विदेश मंत्री सरगेई लावरोव से बात की. लावरोव ने उन्हें बताया कि रूस इस प्रस्ताव के पक्ष में नहीं है.

अमरीका का आरोप है कि गत 21 अगस्त को सीरिया सेना ने राजधानी दमिश्क़ में रासायनिक हथियारों से हमला किया जिसमें 1,429 लोग मारे गए थे.

इससे पहले, फ्रांस के विदेश मंत्री लॉरेंट फेबियस ने कहा था कि फ्रांस संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में सीरिया संबंधी एक नया प्रस्ताव लाएगा.

यह प्रस्ताव सीरिया के रासायनिक हथियारों को अंतरराष्ट्रीय निगरानी में लाने के लिए लाया जा रहा है ताकि इन हथियारों को नष्ट किया जा सके.

इस प्रस्ताव में यह अनुरोध भी किया जाएगा कि सीरिया के सभी रासायनिक हथियारों की पूरी तरह जाँच की जाए.

पेरिस में एक संवाददाता सम्मेलन के दौरान फेबियस ने कहा कि इस योजना पर पहले भी चर्चा हुई थी लेकिन पिछले कुछ हफ्तों में दबाव बढ़ने के बाद इसे आगे बढ़ाया जा रहा है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार