'ओमो सेक्सी क्वीन' और नॉलीवुड की दुनिया

  • 16 सितंबर 2013
नाइजीरिया

ओमोतोला आकिएंदी के चाहने वाले उन्हें 'ओमो-सेक्सी क्वीन ऑफ नॉलीवुड' कहते हैं, लेकिन वो एक पत्नी, मां, अभिनेत्री और संगीतकार होने के साथ-साथ महिलाओं और समाज के लिए कुछ कर करने का जज़्बा भी रखती हैं.

'नॉलीवुड' नाइजीरियाई फिल्म उद्योग को कहा जाता है और ओमोतोला आकिएंदी इसका एक बड़ा नाम बन गई हैं.

ओमोतोला अफ्रीकी युवतियों की आदर्श हैं. वो अब तक 300 फिल्मों में काम कर चुकी हैं और अपना टीवी रिएलिटी शो भी चलाती हैं.

यही नहीं, संयुक्त राष्ट्र ने उन्हें अपने 'वर्ल्ड फूड प्रोग्राम' का राजदूत बनाया है.

पहली भूमिका

ओमोतोला बताती हैं कि एक्टिंग के लिए उनका जुनून स्कूली दिनों से ही शुरू हो गया था.

अपनी एक सहेली के साथ ओमोतोला एक ऑडिशन के लिए यूं ही चली गईं. उन्होंने वहां सहेली के कहने पर ऑडिशन दिया और चुन ली गईं. उन्हें एक मत्स्यकन्या की भूमिका निभानी थी.

लेकिन पहली ही भूमिका में खलनायिका का पुट होने के कारण उनकी मां को ये भूमिका पसंद नहीं आई और उन्हें ये रोल छोड़ना पड़ा.

तब ओमोतोला की उम्र 15 साल की थी. उनके परिवार में वो और उनकी मां थीं. उनके पिता की एक दुर्घटना मौत हो गई थी.

फिल्मों में काम करने को लेकर उनकी मां खुश थीं.

फिल्मी जीवन

ओमोतोला बताती हैं कि नाइजीरिया में काम के बहुत कम अवसर हैं और देर रात तक काम करना पड़ता है. उन्होंने बहुत कम समय में ढेर सारी फिल्में की हैं.

उनका कहना है, "आमतौर पर नॉलीवुड में वीडियो मूवी और डीवीडी फिल्में ज्यादा बनती हैं. ये बस एक हफ्ते में बन जाती हैं और छोटे बजट की होती हैं."

वो बताती हैं, "मगर अब न्यू नॉलीवुड का दौर है. अब बड़े बजट की फिल्में बन रही हैं. दो-तीन महीनों तक शूटिंग चलती है. नाइजीरिया का फिल्म उद्योग ने तेजी से तरक्की की है."

ओमोतोला एक मशहूर हस्ती हैं. इसलिए उन्हें आम जीवन में काफी दिक्कतें भी आती हैं.

वे बताती हैं, "मशहूर होना और आम इंसान की तरह सड़क पर चलना बहुत मुश्किल है. अफ्रीकी लोग नॉलीवुड के दीवाने हैं. वे मुझे देखते ही भीड़ लगा देते है, तस्वीरें खींचने लगते हैं. ऑटोग्राफ लेते हैं."

टाइम पत्रिका

ओमोतोला एक रिएलिटी टीवी शो चलाती हैं. इसमें उनके रोजमर्रा का जीवन, काम, परिवार सब कैमरे के सामने नजर आते हैं.

हालांकि ग्लैमरस छवि होने के कारण रिएलिटी शो में कई बार ग्लैमरस लुक के बिना दिखना उन्हें अजीब सा महसूस होता है.

वो कहती हैं, "पूरे जीवन का स्पॉटलाइट में होना काफी दबाव भरा साबित हो सकता है. मगर मुझे इसमें मजा आता है. दबाव बिल्कुल महसूस नहीं होता."

इसी साल 'टाइम' पत्रिका ने उन्हें 100 सबसे प्रभावशाली हस्तियों में शामिल किया है.

ओमोतोला कहती हैं, "टाइम मैगजीन में छपने पर अच्छा लग रहा है. मैंने लोगों की भलाई के लिए बहुत काम किए हैं. मैं ग्लैमरस हूं, अभिनेत्री हूं, मगर टाइम के लिए मैं फिल्मी कलाकार नहीं एक शख्सियत हूं, एक प्रतीक और यह मेरे लिए सबसे ज्यादा खुशी की बात है."

युवाओं के लिए एक पहल

अभिनय क्षमता से इतर उनमें इंसानियत भी कूट-कूट कर भरी है. ओमोतोला ने अफ्रीकी युवाओं को आवाज देने के लिए अपनी एक संस्था बनाई है.

ओमोतोला कहती हैं, "बड़ी संख्या में अफ्रीकी युवा, खासकर नाइजीरियाई युवा दिग्भ्रमित हैं. हमारे युवा बहुत मेहनती और जीनियस हैं. मगर वे सरकार से खफा हैं. अपनी बुरी हालत के लिए वे सरकार को जिम्मेदार मानते हैं."

वे आगे कहती हैं, "यहां अवसरों की बहुत कमी है. काम-काज के अभाव में लोग निराशा के शिकार हो रहे हैं."

उन्होंने कहा, "ब्रिटेन में हर जगह नाइजीरिया के लोग आगे आ रहे हैं. यह सच्चाई है. मैं इसे सेलिब्रेट करना चाहती हूं."

(बीबीसी आउटलुक कार्यक्रम पर आधारित)

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार