इराक़ में शिया मस्जिद के पास धमाके, 35 की मौत

Image caption इराक में इस साल अब तक जातीय हिंसा में 5 हज़ार से अधिक लोग मारे जा चुके हैं.

इराक़ में अधिकारियों के मुताबिक़ राजधानी बगदाद में एक शिया मस्जिद के पास हुए दो धमाकों में कम से कम 35 लोगों की मौत हो गई है.

बुधवार शाम की नमाज़ अता करने बाद लोग मस्जिद से बाहर निकल रहे थे तभी ये धमाके हुए. इस धमाके में 55 लोग घायल भी हुए हैं. यह मस्जिद शिया बहुल कासरा ज़िले में स्थित है.

अभी तक किसी संगठन ने हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है, लेकिन सुन्नी चरमपंथियों पर संदेह जताया जा रहा है.

हाल के महीनों में इराक़ में जातीय हिंसा बढ़ गई है. साल 2008 के बाद अभी यह चरम पर है.

पांच हजार लोगों की मौत

संयुक्त राष्ट्र के मुताबिक इस साल जनवरी से अब तक इस तरह के हमलों में पांच हजार से अधिक लोगों की मौत हुई है जबकि 12 हज़ार घायल हुए हैं.

बुधवार को ही उत्तरी शहर मोसुल में पुलिस दल को निशाना बनाकर किए गए एक बम विस्फोट में एक पुलिसकर्मी की मौत हो गई जबकि तीन अन्य घायल हो गए.

गत अप्रैल में हाविजा के नज़दीक सुन्नी अरबों के सरकार विरोधी प्रदर्शन पर सेना की कार्रवाई के बाद से इराक़ में जातीय तनाव चरम पर है.

पिछले कुछ हफ़्तों में इराकी सुरक्षा बलों ने बगदाद और आसपास के इलाकों में अलकायदा के सैकड़ों कथित सदस्यों को गिरफ़्तार किया है.

दरअसल, शिया नेतृत्व वाली इराक़ी सरकार ''शहीदों का बदला'' अभियान के तहत ये गिरफ़्तारियां कर रही है. लेकिन सुन्नी बहुल अधिकतर जिलों में चलाए जा रहे इस अभियान को लेकर समुदाय के लोगों में भारी रोष है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार