सेना छोडेंगे प्रिंस विलियम

द ड्यूक ऑफ़ कैम्ब्रिज प्रिंस विलियम सात साल तक सेना में रहने के बाद अब उससे अलग हो रहे हैं. केंसिंग्टन पैलेस ने ये घोषणा की है.

प्रिंस विलियम ने खोज और बचाव पायलट के तौर पर मंगलवार को अपनी आख़िरी शिफ्ट पूरी की.

महल के प्रवक्ता का कहना है कि अब वो अपनी शाही ज़िम्मेदारियों पर ध्यान देंगे और सहायतार्थ काम करेंगे.

उम्मीद है कि अगले कुछ हफ़्तों के भीतर ड्यूक और डचेज़ ऑफ़ कैम्ब्रिज अपने बेटे प्रिंस जॉर्ज के साथ केंसिंग्टन पैलेसे में रहने चले जाएंगे.

बीबीसी के शाही संवाददाता पीटर हंट के मुताबिक़ शाही अधिकारियों का कहना है कि अगले 12 महीने प्रिंस विलियम के लिए बदलाव लेकर आएंगे.

पैलेस ने यह भी जानकारी दी है कि प्रिंस विलियम आधिकारिक कार्यों के ज़रिए महारानी और शाही परिवार के घरेलू और सीमा पार कामों में सहयोग करेंगे.

अगले साल वे द रॉयल फाउंडेशन ऑफ़ द ड्यूक ऐंड डचेज़ ऑफ़ कैम्ब्रिज ऐंड प्रिंस हैरी के साथ काम करेंगे.

केसिंग्टन पैलेस का यह भी कहना है कि प्रिंस विलियम इस समय जन सेवा से जुड़े तमाम विकल्पों के बारे में सोच रहे हैं और इस पर आगे घोषणा की जाएगी.

विशेष अनुभव

Image caption द ड्यूक ऑफ़ डचेज़ ने इसी साल बेटे को जन्म दिया है.

महल के प्रवक्ता का कहना है कि ‘‘विलियम संरक्षण से संबंधित अपना काम आगे बढ़ाएंगे ख़ासकर ख़तरा झेल रहे जानवरों की प्रजातियों के लिए. ड्यूक बच्चों, युवाओं और पूर्व सेवा दे रहे सैनिकों के सहायतार्थ काम करते रहेंगे .’’

मंगलवार को शाही एयरफ़ोर्स के साथ एंगेल्सी में प्रिंस विलियम का तीन साल का कार्यकाल पूरा हो गया है.

बीबीसी के साथ एक बातचीत में उन्होने कहा, ‘‘जब आपने कुछ अच्छा किया हो या किसी की जान बचाई हो तो उससे बेहतर कोई अनुभव नहीं हो सकता. मुझे नहीं लगता कि जीवन में इससे ज़्यादा बड़ा मौक़ा हो सकता जब आप किसी के माता-पिता को मौत के मुंह से खींचकर लाएं उनके बेटे या बेटी के चेहरे के भाव देखें. ये बहुत ज़बरदस्त होता है.’’

उन्होने कहा कि ऐंगल्सी द्वीप उनके और उनकी पत्नी के लिए पहला घर बना और इसकी उनकी ज़िंदगी में हमेशा ख़ास जगह बनी रहेगी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकतें हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार