ऑस्ट्रेलियाः भारत से भेजे गए 1100 करोड़ के ड्रग्स पकड़ाए

ऑस्ट्रलिया पुलिस

ऑस्ट्रेलिया की पुलिस ने भारी मात्रा में एफ़ेड्रीन ड्रग्स बरामद की है, जो भारत से जहाज़ द्वारा मेलबर्न भेजे गए सामान में छिपाकर रखी गई थी.

ऑस्ट्रेलिया की फ़ेडरल पुलिस ने बताया कि एक संयुक्त जाँच दल ने 274 किलोग्राम एफ़ेड्रीन बरामद की है. पुलिस के अनुसार इसका उपयोग मेथैमफ़ेटामाइन का क्रिस्टल बनाने में किया जाता है.

अधिकारियों ने कहा कि जिन थैलों में ड्रग्सको छिपाया गया था उनके ऊपर बासमती चावल का लेबल लगा हुआ था.

ऑस्ट्रेलियाई पुलिस का कहना है कि इस मामले में दो विदेशियों सहित कुल तीन व्यक्तियों के ऊपर तस्करी में शामिल होने के आरोप लगाए गए हैं.

बासमती चावल या कुछ और

ऑस्ट्रेलिया की पुलिस ने एक वक्तव्य में कहा कि कृषि, सीमा-शुल्क और सीमा सुरक्षा बल के टॉस्क फ़ोर्स ने ऑस्ट्रेलिया के इतिहास की सबसे बड़े ड्रग तस्करी के मामलें में से एक का भंडाफोड़ किया और भारी मात्रा में एफ़ेड्रीन पकड़ी.

उन्होंने कहा कि पकड़ी गई एफ़ेड्रीन से 200 किलोग्राम क्रिस्टल मेथैमफ़ेटामाइनबनाई जा सकती है.

पुलिस ने बताया कि हालांकि इसकी क़ीमत शुद्धता के ऊपर निर्भर करती हैं, फिर भी पकड़े गए ड्रग के यहाँ की अनुमानित क़ीमत क़रीब 11 अरब 74 करोड़़ रूपए होगी.

इस ऑपरेशन की शुरूआत जुलाई से की गई थी. इस दौरान बासमती चावल के लेबल वाले तीन हज़ार छह सौ थैलों की जाँच की गई, जो भारत से मेलबर्न लाए गए थे.

मेलबर्न और सिडनी में लोगों के ख़िलाफ़ गिरफ़्तारी वारंट जारी किए गए थे. पुलिस ने बताया कि इस मामले में तीन संदिग्धों में से दो व्यक्ति कनाडा के हैं और एक ऑस्ट्रेलिया का है.

इस सिलसिले में भारत में स्थानीय पुलिस द्वारा एक भारतीय को भी गिरफ़्तार किया गया है.

अधिकारियों ने स्थानीय मीडिया में बताया कि ऑस्ट्रेलिया में ड्रग तस्करी की ये अब तक की तीसरी सबसे बड़ी घटना है.

(क्या आपने बीबीसी हिन्दी का नया एंड्रॉएड मोबाइल ऐप देखा? डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार