एफ़बीआई की तर्ज पर ब्रिटेन में एनसीए का गठन

ब्रिटेन की एनसीए
Image caption एनसीए में साढ़े चार हजार अधिकारी काम करते हैं

ब्रिटेन में बेहद गंभीर अपराधों की जांच-पड़ताल के लिए नेशनल क्राइम एजेंसी (एनसीए) नामक संस्था का गठन किया है.

गृह मंत्री टेरेसा मे ने बीबीसी को बताया कि एनसीए संगठित क्षेत्र के अपराधियों का "सतत पीछा" करेगी. उन्होंने इस संस्था को "ब्रितानी एफ़बीआई" कहा.

उन्होंने बताया कि यह संस्था संगठित अपराध, आर्थिक और साइबर क्राइम, सीमा की निगरानी और बाल संरक्षण की दिशा में जांच करेगी.

एनसीए 2006 में स्थापित सीरियस ऑर्गेनाइज्ड क्राइम एजेंसी(सोका) का स्थान लेगी. लेकिन इसका खर्च कम होगा.

साल 1998 के बाद संगठित अपराध की जाँच करने के लिए बनाया गया यह तीसरी संस्था है.

दि नेशनल क्राइम स्कैवड का गठन 15 साल पहले किया गया था. इसके आठ साल बाद ' सोका' ने इसका स्थान ले लिया, जिसे अब ख़त्म किया जा रहा है.

ब्रिटेन में एनसीए ब्रिटेन में क्षेत्रीय पुलिस बल के साथ और विदेशों में उसके समकक्ष एजेंसियों के संग मिलकर काम करेगी.

एनसीए में एजेंसी में साढ़े चार हज़ार अधिकारी एवं कर्मचारी होंगे.

अपराधियों को चेतावनी

इसके प्रमुख केथ ब्रिस्टाव ने अपराधियों को चेतावनी देते हुए कहा है कि उनके काम में लगातार व्यवधान डाला जाएगा. इसमें उनकी संपत्ति जब्त करना भी शामिल है.

उन्होंने बीबीसी से कहा, ''हम कुछ अलग करने जा रहे हैं, लोग इसे देखेंगे. ''

एनसीए के पास ब्रिटेन और वेल्स में पुलिस बल को मजबूत बनाने, उन्हें सहयोग करने और पुलिस कार्रवाइयां करने का अधिकार है.

टेरेसा मे ने बीबीसी वन के एंड्रूय मार के शो में रविवार को कहा कि नई एजेंसी को संगठित अपराधियों का लगातार पीछा करने के लिए बनाया गया है.

उन्होंने कहा, ''इस देश में अपराध कम हो रहा है. लेकिन हम उदासीन नहीं रह सकते हैं, ख़ासकर संगठित अपराध को लेकर. मुझे नहीं लगता कि पिछली सरकार ने इस पर अधिक ध्यान नहीं दिया.''

आतंरिक मामलों की एक समिति के प्रमुख कीथ वाज ने कहा कि एनसीए के संगठनों का कुल बजट 812 मिलियन पाउंड का है. अगले साल के लिए नई एजेंसी का बजट 473.9 मिलियन का रखा गया है.

उन्होंने कहा कि गृह मंत्रालय को इस पर नज़र रखनी होगी कि यह पैसा जा कहाँ रहा है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार