परमाणु मिसाइल सँभालने वाले जनरल 'बर्खास्त होंगे'

  • 12 अक्तूबर 2013
Image caption माइकेल कैरी अमरीकी वायुसेना के शीर्ष अधिकारियों में से एक हैं.

अमरीकी अधिकारियों के अनुसार वायुसेना में परमाणु मिसाइलों के प्रमुख एक जनरल को 'विश्वसनीयता और भरोसे में कमी' के कारण बर्खास्त किया जा रहा है.

मेजर जनरल माइकेल कैरी को अमरीकी वायुसेना की 20वीं एयर फ़ोर्स टुकड़ी से हटाए जाने की असल वजह का अभी पता नहीं चल सका है.

हालांकि अधिकारियों ने इस बात पर ज़ोर दिया है कि उनकी बर्खास्तगी का परमाणु हथियारों के ऑपरेशन से कोई लेना देना नहीं है.

इससे पहले बुधवार को अमरीकी नौ सेना ने इस बात की घोषणा की थी कि एडमिरल रैंक के एक अफ़सर जो परमाणु हथियारों के ज़खीरे की देख रेख कर रहे थे, उन्हें बर्खास्त कर दिया गया है.

अधिकारियों ने कहा था कि अवैध रूप से जुआ खेलने की गतिविधियों के कारण इस एडमिरल को बर्खास्त किया गया.

'दुर्भाग्यपूर्ण'

Image caption बुधवार को एडमिरल जियार्डीना को भी बर्खास्त किया गया था.

माइकेल कैरी अमरीकी वायुसेना के शीर्ष अधिकारियों में से एक हैं और उनके पास देश के तीन फ़ौजी ठिकानों पर अंतर महाद्वीपीय परमाणु मिसाइलों की देख रेख की ज़िम्मेदारी थी.

एक अनुमान के अनुसार ऐसी कुल लगभग 450 मिसाइलें अमरीका में मौजूद हैं.

अमरीकी वायुसेना के बयान में कहा गया, "एयर फ़ोर्स ग्लोबल स्ट्राईक कमांड के प्रमुख जेम्स कोवाल्स्की ने बर्खास्तगी का फ़ैसला तब लिया जब उनके सामने माइकेल कैरी की एक अस्थाई तैनाती के दौरान हुए मामले की जांच आई"

बयान में आगे कहा गया, "माइकेल कैरी के खिलाफ जो आरोप हैं वे न तो उनके आधिकारिक काम काज से सम्बंधित है और न ही किसी यौन शोषण के मामले से जुडे हैं. एक इतने वरिष्ठ अधिकारी को इस तरह से अपने कार्यभार से मुक्त किया जाना बेहद दुर्भाग्यपूर्ण हैं".

जानकारों के मुताबिक़ दो इतने वरिष्ठ फ़ौजी अफसरों की बर्खास्तगी एक ऐसे समय में हुई हैं जब अमरीकी सेना के परमाणु विभाग में कई अन्य मामलों की जांच हुई है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार