वेस्टगेट मॉल का संदिग्ध हमलावर नॉर्वे का नागरिक

Image caption धुहुलो के पड़ोसी ने बीबीसी को सीसीटीवी फ़ुटेज में काली कमीज़ या जैकेट पहने हमलावर के धुहुलो होनी की संभावना जताई.

नैरोबी के वेस्टगेट मॉल पर पिछले महीने हमला करने वाले संदिग्धों में से एक 23 वर्षीय युवक नॉर्वे का नागरिक है.

हमले की जांच कर रहे अधिकारियों ने बीबीसी कार्यक्रम ‘न्यूज़नाइट’ को बताया है कि सीसीटीवी की रिकॉर्डिंग में दिखाई दे रहे हमलावरों में से एक हसन अब्दी धुहुलो हो.

सोमालिया में पैदा हुए धुहुलो नौ वर्ष की उम्र में ही अपने परिवार के साथ भागकर नॉर्वे के तटवर्ती शहर लार्विक में रहने लगे. दस साल वहां रहने के बाद वर्ष 2009 में वो मोगादिशु लौट आए.

नैरोबी में हुए हमले में कम से कम 67 लोग मारे गए. अल-क़ायदा से जुड़े सोमाली इस्लामी गुट अल-शबाब ने इस हमले की ज़िम्मेदारी ली है.

ये अब तक साफ़ नहीं हो पाया है कि मॉल के अंदर कितने हमलावर थे. पुलिस के पहले 10-15 बंदूकधारियों के वहां होने का शक़ था लेकिन कीनिया के अधिकारियों द्वारा जारी सीसीटीवी फ़ुटेज में चार हमलावरों को ही देखा जा सकता है.

जेनरेशन 1.5

धुहुलो के एक रिश्तेदार ने अपनी पहचान गोपनीय रखे जाने की शर्त पर बीबीसी को बताया कि धुहुलो अपने परिवार को कभी-कभार फ़ोन किया करता था, इस साल गर्मियों में उससे आखिरी बार बात हुई थी जब उसने कहा था कि वो मुसीबत में है और घर लौटना चाहता है.

नॉर्वे में धुहुलो के एक पड़ोसी, मोर्टन हेनरिकसन, ने बीबीसी को बताया कि उन्होंने कई सालों से धुहुलो को देखा नहीं था.

उनके मुताबिक, “वो काफ़ी कट्टरपंथी लगता था, उसे नॉर्वे की जीवन शैली पसंद नहीं आती थी, जल्दी मुसीबत में पड़ जाता, झगड़े करता, उसके पिता बहुत परेशान रहते थे.”

बीबीसी के सुरक्षा संवाददाता फ़्रैंक गार्डनर बताते हैं कि सोमाली नॉर्वे के सबसे बड़े शरणार्थी समुदायों में से एक हैं और इन 23,000 सोमालियों में से ज़्यादतर का आतंकवाद से कोई लेना-देना नहीं है.

नॉर्वे की जांच एजंसियों के मुताबिक 20-30 सोमालियों ने नॉर्वे छोड़ दिया है और सोमालिया में लड़ने चले गए हैं. लेकिन औसत के हिसाब से ये 1,000 सोमाली लोगों में से एक ही है.

सुरक्षा और राजनीतिक इस्लाम के जानकार स्टिग हैनसन कहते हैं, “सबसे बड़ी परेशानी है जेनरेशन 1.5 – ये वो लोग हैं जो नॉर्वे में जन्मे नहीं, पर यहां बहुत कम उम्र में आ गए और दो सभ्यताओं के बीच में फंस गए.”

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहाँ क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार