कीनिया: वेस्टगेट हमले में सैनिकों ने की 'लूटपाट'

  • 21 अक्तूबर 2013

पिछले महीने कीनिया की राजधानी नैरोबी में वेस्टगेट मॉल पर हुए हमले के दौरान, सुरक्षा कैमरे की फुटेज में कीनियाई सुरक्षा बलों को सामान लूटते हुए देखा गया है.

फुटेज में कुछ कीनियाई सैनिकों को दुकानों से शॉपिंग बैग ले जाते, जबकि कुछ दूसरे सैनिकों को एक मोबाइल की दुकान से डिब्बों को ले जाते देखा जा सकता है.

नैरोबी में 21 सितम्बर को हुए इस हमले में उस समय 67 लोग मारे गए थे, जब अल-शबाब चरमपंथियों ने नैरोबी के एक शॉपिंग सेंटर पर धावा बोल दिया था.

कीनियाई सेना के मुताबिक वह लूटपाट के आरोपों की जाँच कर रही है.

लूटपाट की फुटेज

समाचार एजेंसियों के मुताबिक नई सीसीटीवी फ़ुटेज वेस्टगेट मॉल के नाकूमैट्ट सुपरमार्केट के प्रवेश द्वार के अंदर की है, जहाँ खाने के सामान से लेकर टीवी तक बेचा जाता है.

सीसीटीवी फुटेज के एक हिस्से में कई सैनिकों को ख़ून से सनी हुई ज़मीन पर से सुपरमार्केट से बाहर आते हुए देखा गया है और उनके हाथों में प्लास्टिक बैग हैं.

एक दूसरी सीसीटीवी क्लिप में कीनियाई सैनिकों को एक मोबाइल फोन के आउटलेट पर देखा जा सकता है.

एक सैनिक दुकान के काउंटर पर पहुँच कर एक सफेद सी वस्तु को ले लेता है. इसके बाद कई सैनिक सफेद सी वस्तु को ले लेते हैं, समाचार एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक यह सफेद वस्तु मोबाइल फोन हैं.

वेस्टगेट हमले के दौरान चार दिन तक गोलाबारी चली थी, जिसमें मॉल का अधिकतर हिस्सा नष्ट हो गया था.

कीनिया की सेना का कहना है कि लूटपाट के आरोपों की जाँच शुरु कर दी गई है, जबकि संवाददाताओं के मुताबिक इन आरोपों से कीनिया के लोगों में गुस्सा है.

सप्ताह के अंत में कीनिया के सबसे ज्यादा बिकने वाले अखबार 'द नेशन' ने 'शेम ऑफ सोल्जर्स लूटिंग वेस्टगेट' के नाम से एक लेख छापा.

चौथा हमलावर

कीनियाई अधिकारियों ने घोषणा की है कि कथिट लूटपाट की फुटेज के दौरान चौथे हमलावर का शव बरामद कर लिया गया है.

कीनिया के गृह मंत्री यूसुफ ओले लेंक्यू ने कहा,''हमने चौथा शव बरामद कर लिया है और सीसीटीवी फुटेज के अनुसार यह हमलावर का शव है. डीएनए और दूसरी जाँचों से शव की पहचान की पुष्टि हो जाएगी. इसके अलावा हमने चार एके-47 राइफलें भी बरामद की है और हमारे मुताबिक हमले के दौरान चरमपंथियों ने इन राइफलों का इस्तेमाल किया था. हमें एके-47 राइफल की 11 मैगजीन भी मिली हैं.''

अधिकारियों ने हमले में 10 से 15 बंधूकधारियों के होने की बात कही थी लेकिन सीसीटीवी कैमरे के फुटेज से सिर्फ चार चरमपंथियों के हमले में शामिल होने की बात सामने आई है.

कुछ हमलावरों के भागने की भी आशंका है लेकिन अभी तक इस बारे में कुछ स्पष्ट नहीं हो सका है.

हमलावर नॉर्वे का नागरिक

सोमालिया के चरमपंथी समूह अल-शबाब ने कहा था कि उसके सदस्यों ने कीनिया की सेना द्वारा सोमालिया में चलाए जा रहे अभियान की प्रतिक्रिया में ये हमला किया है.

पिछले सप्ताह बीबीसी के न्यूजनाइट कार्यक्रम में पता चला था कि संदिग्ध हमलावरों में से एक 23 वर्षीय हसन आब्दी धुहुलो सोमालिया में जन्मे नॉर्वे के नागरिक थे.

उनका परिवार 1990 में नॉर्वे चला गया था लेकिन 2009 में हसन सोमालिया लौटकर वहाँ के चरमपंथी समूह में भर्ती हो गए थे.

अल-शबाब के सूत्रों ने बीबीसी की सोमालिया सेवा को बताया कि हसन ने केन्द्रीय सोमालिया में स्थित चरमपंथियों के मुख्य शिविर अल बर में प्रशिक्षण लिया था.

ख़बर के मुताबिक धुहुलो ने मोगादिशू और किस्मायो में अल शबाब के कई आपरेशन में भाग लिया था और जिहादी हलकों में वह अच्छी तरह जाने जाते थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार