'महिलाओं का अपमान कर रही है बीजिंग पुलिस'

चीन महिला ड्राइवर

चीन की राजधानी बीजिंग में पुलिस पर महिला ड्राइवरों के लिए जारी सुरक्षा टिप्स (सलाहों) को लेकर लिंग भेद के आरोप लगे हैं.

अपने आधिकारिक माइक्रोब्लॉगिंग अकाउंट में पुलिस ने महिलाओं की ओर से अमूमन की जाने वाली ग़लतियों के बारे में बताया है.

चीन के एक गाँव में जमीन को लेकर तनाव

इनमें दिशा ज्ञान की कमी, गाड़ी चलाते हुए हैंडब्रेक हटाना भूल जाना और गियर न बदल पाना शामिल है.

इससे नाराज महिला ड्राइवरों ने इन टिप्स को लेकर अपनी आवाज उठाई है.

बीजिंग पुलिस की माइक्रोब्लॉगिंग साइट पर की गई टिप्पणी का शीर्षक है, "महिला ड्राइवर, कृपया ध्यान दें और ड्राइविंग की ग़लतियों से बचें."

'तो अदालत में चली जाती'

इसमें पुलिस ने आधारभूत बातों से शुरूआत करते हुए कहा है, "हैंडब्रेक सामान्यतः गाड़ी को रोके रखने के लिए इस्तेमाल की जाती है. बहुत सी नई महिला ड्राइवर अक्सर जल्दबाज़ी में गाड़ी चलाना शुरू कर देती हैं और हैंडब्रेक को हटाना भूल जाती हैं."

"इससे गाड़ी चलने में दिक्कत आती है और इसका परिणाम यह होता है कि गाड़ी ज़्यादा ईंधन की खपत करती है."

पुलिस ने महिला ड्राइवरों की दूसरी आम दिक्कत बताई है- रास्ते और दिशा याद रखने में उनकी अक्षमता.

"कई महिला ड्राइवरों का दिशाबोध ठीक नहीं होता और वह अक्सर यह तय करने में हिचकिचाती हैं कि किस सड़क पर जाना है."

"ख़ासतौर पर जब वह ऐसी सड़क पर होती हैं जिसमें एलिवेटिड ब्रिज होते हैं. वह अक्सर उसमें जाने या बाहर निकलने का रास्ता नहीं ढूंढ पातीं. वह उन जगहों को भी याद नहीं रख पातीं जिनमें वह कई बार जा चुकी हैं."

पुलिस ने बेढ़ंगे तरीक से एक्सीलेटर देने या ब्रेक मारने का भी ज़िक्र किया है.

चीनी सोशल मीडिया

Image caption महिला ड्राइवरों में पुलिस की इन सुरक्षा सलाहों को लेकर ग़ुस्सा है

ट्विटर के लोकप्रिय चीनी संस्करण, सिना वीबो, पर की गई पुलिस की टिप्पणी पर 50 टिप्पणियां आई हैं- ज़ाहिर है, जैसा कि अनुमान था- महिलाओं की.

दुनिया भर में लैंगिक भेद भाव हुआ कम

एक महिला लिखती हैं, "पुलिस अपने आधिकारिक अकाउंट पर ऐसा लेख कैसे दे सकती है जो इतने फूहड़ तरीके से महिलाओं के प्रति भेदभाव करता है. ज़्यादातर सुरक्षा मामले के नए ड्राइवरों में एक समान होते हैं. सिर्फ़ महिलाओ के बारे में टिप्पणी क्यों की जाए."

दूसरी कहती हैं, "अगर यह टिप्पणी अमरीका में की गई होती तो मैं अदालत में चली जाती."

कुछ अन्य टिप्पणियां बहुत तल्ख नहीं हैं. एक यूज़र ने लिखा है कि सुरक्षा सलाह देने की मंशा ठीक थी लेकिन "महिला ड्राइवरों को निशाना बनाने की ज़रूरत नहीं थी."

बीजिंग पुलिस ने इस प्रतिक्रिया तो नहीं की है लेकिन इन टिप्पणियों को अकाउंट में बने रहने दिया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार