पाकिस्तानी तालिबान को नए नेता की तलाश

हकीमुल्ला महसूद

पाकिस्तानी तालिबान के नेता हकीमुल्ला महसूद के शुक्रवार को अमरीकी ड्रोन हमले में मारे जाने के बाद तालिबान का अगला नेता चुनने के लिए बैठक अभी भी जारी है.

इससे पहले ख़बरें आई थीं कि पाकिस्तानी तालिबान ने अपना नया नेता चुन लिया है, जिसका बाद में खंडन कर दिया गया.

स्थानीय मीडिया ने ऐसे कई नेताओं का नाम लिया है जिन्हें तालिबान का नेता चुना जा सकता है.

तालिबान द्वारा नेता चुने जाने के बाद ही शांति वार्ता के बारे में उनके रुख का अंदाजा लग सकेगा.

पाकिस्तानी सरकार ने अमरीका सरकार पर उसकी संप्रुभता के उल्लंघन का आरोप लगाया है. पाकिस्तान ने अमरीका पर इस शांति वार्ता को जानबूझकर बाधित करने का भी आरोप लगाया है.

पाकिस्तान के गृहमंत्री ने कहा है कि तालिबान नेता हकीमुल्ला महसूद की मौत ने पाकिस्तान में शुरू हो रही शांति प्रक्रिया को तबाह कर दिया है.

'शांति प्रयासों की हत्या'

गृह मंत्री चौधरी निसार अली ख़ान ने कहा, 'यह सिर्फ़ एक व्यक्ति की हत्या नहीं है बल्कि यह शांति के प्रयासों की भी हत्या है.'

शुक्रवार को तहरीक-ए-तालिबान के नेता हकीमुल्ला महसूद की संदिग्ध अमरीकी ड्रोन हमले में मौत के बाद पाकिस्तान ने इस पर विरोध प्रकट करने के लिए अमरीकी राजदूत को भी तलब किया है.

हकीमुल्ला महसूद की हत्या पाकिस्तान सरकार के शांति वार्ता प्रतिनिधिमंडल के तालिबान से मुलाक़ात करने से एक दिन पहले हुई.

इस प्रतिनिधिमंडल को उत्तरी वजीरिस्तान में तालिबान नेताओं से शनिवार को मुलाक़ात करनी थी.

चौधरी निसार ने अमरीका पर शांति वार्ता के प्रयासों को बर्बाद करने का आरोप लगाते हुए कहा कि पाकिस्तान और अमरीका के बीच सहयोग के हर पहलू की समीक्षा की जाएगी.

तालिबान का ख़ौफनाक युवा कमांडर

हिंसा

Image caption पाकिस्तान के गृहमंत्री चौधरी निसार हकीमुल्ला की हत्या को शांति प्रयासों पर हमला मान रहे हैं.

पाकिस्तान के सूचना मंत्री परवेज़ रशीद ने कहा, 'अमरीका ने ड्रोन के ज़रिए शांति वार्ता पर हमला किया है लेकिन हम वार्ता को नाकाम नहीं होने देंगे.'

पाकिस्तान में पिछले कुछ सालों से तालिबान की ओर से की जाने वाली हिंसा में बढ़ोतरी हुई है और हज़ारों लोगों की जान गई है. प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ़ ने तालिबान के साथ शांति वार्ता के लिए प्रतिबद्धता ज़ाहिर की है.

एक वरिष्ठ तालिबान अधिकारी ने बीबीसी को बताया कि उत्तरी वजीरिस्तान के इलाक़े में जब हकीमुल्ला महसूद अपनी गाड़ी से कहीं जा रहे थे तब उन पर चार मिसाइलें दागी गईं. हमले में उनके दो सुरक्षा गार्ड़ों समेत कुल पाँच लोगों की मौत हो गई.

पाकिस्तानी मीडिया के मुताबिक हकीमुल्ला का अंतिम संस्कार उत्तरी वजीरिस्तान के एक अज्ञात स्थान पर किया गया.

बदले की धमकी

हकीमुल्ला की मौत के बाद पाकिस्तानी सुरक्षा बलों को हाई अलर्ट पर कर दिया गया. पाकिस्तानी तालिबान के प्रवक्ता अज़म तारीक़ ने बदले की कार्रवाई की चेतावनी जारी की है.

उन्होंने कहा, 'हकीमुल्ला के ख़ून का हर कत़रा आत्मघाती हमलावर में बदल जाएगा. अमरीका और उनके दोस्त खुश न हों क्योंकि हम अपने शहीद के ख़ून का बदला लेंगे.'

Image caption हकीमुल्ला ने अपने दुस्साहस और युद्ध कौशल के दम पर पाकिस्तानी तालिबान में लोकप्रियता हासिल की थी.

तालिबान के शीर्ष नेताओं की समिति ने नए नेता के चुनाव के लिए शनिवार को बैठक की. अपुष्ट रिपोर्टों के मुताबिक क्षेत्रीय कमांडर ख़ान सय्यद साजना को पाकिस्तानी तालिबान का नया नेता चुना गया है.

हकीमुल्ला महसूद की तरह ही उनसे पहले प्रमुख बैतुल्ला महसूद की भी 2009 में अमरीकी ड्रोन हमले में ही मौत हुई थी. पाकिस्तानी तालिबान के संस्थापक नेक मोहम्मद भी 2004 में एक संदिग्ध ड्रोन हमले का शिकार हुए थे.

बड़ा झटका

अमरीकी राष्ट्रपति की राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद के प्रवक्ता कैटलिन हेडन ने हकीमुल्ला की मौत में अमरीकी सरकार के हाथ होने या मौत की पुष्टि करने के संबंध में कोई टिप्पणी नहीं की, हालांकि उन्होंने यह ज़रूर कहा कि हकीमुल्ला की मौत तालिबान के लिए बड़ा झटका होगी.

वहीं पाकिस्तानी सरकार ने ड्रोन हमले की कड़ी आलोचना करते हुए इसे पाकिस्तान की संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता का उल्लंघन बताया है.

Image caption पाकिस्तानी तालिबान के पूर्व प्रमुख बैतुल्ला महसूद भी साल 2009 में अमरीकी ड्रोन हमले में मारे गए थे.

हाल ही में तालिबान के एक शीर्ष कमांडर को अफ़ग़ानिस्तान में अमरीकी सुरक्षाबलों द्वारा गिरफ़्तार किए जाने के बाद हकीमुल्ला की मौत तालिबान के लिए एक बड़ा झटका है.

तालिबान के दूसरे नंबर के नेता वलीउर रहमान मई में हुए ऐसे ही एक ड्रोन हमले में मारे गए थे.

अपनी मौत से दो हफ़्ते पहले बीबीसी को दिए एक दुर्लभ साक्षात्कार में हकीमुल्ला ने कहा था कि वे पाकिस्तान के साथ गंभीर शांति वार्ता के लिए तैयार हैं. हालांकि उन्होंने यह भी कहा था कि सरकार ने उनसे संपर्क नहीं किया है.

महसूद ने हाल ही में पाकिस्तान में सार्वजनिक स्थलों पर हुए धमाकों में हाथ होने से इंकार करते हुए कहा था कि उनके दुश्मन 'अमरीका और उसके दोस्त' हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार