वेस्टगेट हमले के मामले में चार पर आरोप तय

  • 4 नवंबर 2013

कीनिया की राजधानी नैरोबी स्थित वेस्टगेट शॉपिंग सेंटर पर हुए हमले में चार लोगों को आरोपी पाया गया है. इस हमले में 67 लोग मारे गए थे.

पुलिस ने यह जानकारी देते हुए कहा कि चार विदेशी नागरिकों पर चमरपंथी समूहों को मदद देने और कीनिया में ग़ैरकानूनी तरीके से रहने का आरोपी पाया गया है.

हालांकि इनकी नागरिकता का ख़ुलासा नहीं किया गया है, लेकिन माना जा रहा है कि वे सोमालिया के रहने वाले हैं. सितंबर के महीने में चरमपंथियों की ओर से की गई चार दिनों की घेराबंदी के मामले में पहली बार आरोप तय किए गए हैं.

जिन लोगों पर आरोप तय किए गए हैं उनके नाम मोहम्मद अहमद अब्दी, लिबान अब्दुल्ला, अदनान इब्राहिम और हुसैन हसन हैं.

इनके ख़िलाफ दायर चार्जशीट में कहा है कि इन आरोपियों ने एक चरमपंथी समूह की मदद करके 21 सितंबर को वेस्टगेट शॉपिंग मॉल पर हमला किया.

इन चारों आरोपियों ने अपने आपको निर्दोष बताया है. इन पर फ़र्जी पहचान दस्तावेज़ रखने का भी आरोप है. जबकि आरोपियों की तरफ से कोई वकील पेश नहीं हुआ.

इनमें से किसी पर शॉपिंग सेंटर में बंदूक चलाने का आरोप नहीं है.

अदालत ने अभियोजन पक्ष की ओर से आगे की पूछताछ के लिए और समय मांगे जाने के बाद चारों आरोपियों को पुलिस रिमांड पर भेजने का आदेश दिया.

सोमाली चरमपंथी इस्लामी समूह अल-शबाब ने सेंटर पर हमले की ज़िम्मेदारी ली थी. कीनियाई सेना ने कहा था कि "घेराबंदी के दौरान चारों हमलावर मारे गए थे."

हमला करने वाले संदिग्धों में सोमालिया में जन्मा नार्वे का एक 23 वर्षीय नागरिक हसन अब्दी धुहुलो है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार