फ़िलीपींस: 'मृतकों की संख्या आशंका से कहीं कम'

फ़िलीपींस के राष्ट्रपति बेनिग्नो अक्विनो ने कहा है कि हेयान तूफ़ान में मारे गए लोगों की तादाद उस अनुमान से कहीं कम हो सकती है, जितनी कि पहले सोची गई थी.

सीएनएन को दिए गए एक साक्षात्कार में राष्ट्रपति ने कहा कि दस हज़ार मृतकों का आंकड़ा बहुत ज़्यादा है. ये संख्या 2,500 के आस-पास हो सकती है.

संयु्क्त राष्ट्र का कहना है कि तूफान से एक करोड़ दस लाख लोग लोग प्रभावित हैं और पौने सात लाख लोगों को विस्थापित होना पड़ा है.

राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन परिषद के मुताबिक आधिकारिक तौर पर अब तक 1,798 लोग मारे जा चुके हैं. 2,582 घायल हैं और 82 लोग लापता हैं.

एक दिन पहले फ़िलीपींस के राष्ट्रपति ने देश में तूफान से हुई तबाही को राष्ट्रीय आपदा घोषित कर दिया था.

अपने बयान में राष्ट्रपति ने कहा कि सर्वाधिक प्रभावित इलाक़ों में व्यापक विनाश हुआ है और भारी तादाद में लोग मारे गए हैं.

राहत और बचाव कर्मी अभी भी तूफ़ान प्रभावित कई गांवों में नहीं पहुंच पाए हैं.

हज़ारों की तादाद में लोग राहत सामग्री पहुंचने का इंतज़ार कर रहे हैं.

दिक्कतें

संयुक्त राष्ट्र ने फ़िलीपींस में समुद्री तूफ़ान हेयान से हुई तबाही को अभूतपू्र्व बताया है और कहा है कि इससे निपटने के लिए बड़े पैमाने पर अंतरराष्ट्रीय मदद की ज़रूरत है.

इस बीच फ़िलीपींस में अंतरराष्ट्रीय मदद का पहुंचना जारी है.

कई देशों ने मदद के लिए विमान और जहाज़ भेज रहे हैं लेकिन राहत सामग्री बांटने के काम में क्षतिग्रस्त सड़कें और हवाई अड्डे और ख़राब मौसम की वजह से मुश्किलें आ रही हैं.

संयुक्त राष्ट्र के सहायता मामलों के संयोजन कार्यालय के निदेशक जॉन गिंग का कहना था कि उनकी प्राथमिकता हवाई उड़ानें चालू करना, मलबा हटाना और रास्तों को साफ़ करना है.

जॉन गिंग ने कहा, "ये सब हो रहा है. काफ़ी धीमी गति से हो रहा है लेकिन हो रहा है और हर कोई हालात बेहतर करने के लिए काम कर रहा है."

सुरक्षा चिंताएं

इस बीच सहायता संस्थाओं ने चेतावनी दी है कि फिलीपींस में सुरक्षा हालात बदतर होते जा रहे हैं.

खाने के सामान के गोदामों और दुकानों के लूटे जाने की ख़बरें आ रही हैं और लोगों में अपनी सुरक्षा की डर बढ़ रहा है.

ख़बर है कि टैक्लोबान जा रहे एक सहायता दल पर हमले हुआ है और हमलावरों में से दो लोगों को सुरक्षा बलों ने गोली मार दी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार