हथियारों को दफ़न करने के लिए नहीं मिल रही ज़मीन

अल्बानिया
Image caption अल्बानिया में लोग अपना विरोध तरह तरह से जता रहे हैं

बाल्कन देश अल्बानिया के प्रधानमंत्री इदी रामा ने कहा है कि वो सीरिया के रासायनिक हथियारों को अपने यहां नष्ट करने की इजाज़त नहीं देंगे.

इदी रामा ने तिराना और अन्य शहरों में प्रदर्शनकारियों को संबोधित करते हुए ये बात कही.

अल्बानिया ने हाल ही में अपना रासायनिक हथियारों का ज़ख़ीरा नष्ट किया है. इसे ध्यान में रखते हुए अमरीका ने अल्बानिया से आग्रह किया है वो सीरिया के रासायनिक हथियारों को भी नष्ट करने के लिए अपनी ज़मीन का इस्तेमाल करने दे.

सीरिया के रासायनिक हथियारों को नष्ट करने के लिए रूस की मध्यस्थता में हुए समझौते के तहत इस बात सहमति बनी थी कि संभव हो तो सीरिया के हथियारों को किसी और देश में नष्ट किया जाए.

लेकिन इदी रामा ने टेलीविज़न के ज़रिए अपने संबोधन में कहा, ''अल्बानिया के लिए इस अभियान में शामिल होना नामुमकिन है.''

नॉर्वे देगा जहाज़

Image caption अभी तय नहीं हो पाया है कि सीरिया के रासायनिक हथियार किस मुल्क़ की ज़मीन पर नष्ट किए जाएंगे

तिराना स्थित अमरीकी दूतावास ने एक बयान में कहा है कि वो अल्बानिया की सरकार के फ़ैसले का सम्मान करती है.

तय कार्यक्रम के मुताबिक़, सीरिया के सभी रासायनिक हथियार 30 जून 2014 से पहले नष्ट किए जाने हैं.

इन हथियारों को कहां नष्ट किया जाएगा, इस बारे में अभी पक्के तौर पर कुछ नहीं कहा गया है लेकिन संभावित जगहों के तौर पर फ़्रांस और बेल्जियम का नाम लिया गया है.

नॉर्वे ने वादा किया है वो इन हथियारों को सीरिया से किसी दूसरी जगह ले जाने के लिए अपने जहाज़ भेजेगा.

नॉर्वे ने कहा था कि उसके पास इन हथियारों को नष्ट करने की दक्षता नहीं है, इसलिए वो इन्हें अपनी ज़मीन पर नष्ट नहीं कर सकता है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार