पाकिस्तान: ओसामा की मौत में भागीदार डॉक्टर पर हत्या का मुकदमा

  • 24 नवंबर 2013
डॉक्टर शकील अफ़रीदी
Image caption डॉक्टर शकील अफ़रीदी को एक महिला ने अपने बेटे की मौत के लिए ज़िम्मेदार ठहराया है

ओसामा बिन लादेन का पता-ठिकाना खोज निकालने में अमरीका की मदद करने वाले पाकिस्तानी डॉक्टर शकील अफ़रीदी पर हत्या के नए आरोप लगाए गए हैं.

ताज़ा आरोप ख़ैबर क़बाइली इलाक़े के पहले अस्पताल में एक मरीज की मौत से संबंधित हैं.

समाचार एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक़, शकील अफ़रीदी के वकील समीउल्ला अफ़रीदी का कहना है कि अधिकारियों ने उन्हें इस बारे में शुक्रवार सुबह सूचना दी.

मामला मौत का

शकील अफ़रीदी के वकील समीउल्ला अफ़रीदी ने बीबीसी को बताया कि सहायक राजनीतिक एजेंट के कार्यालय में एक महीने पहले एक महिला ने डॉक्टर अफ़रीदी के ख़िलाफ़ शिकायत दर्ज कराई गई. शिकायत के अनुसार साल 2006 में उसके सुलेमान नामक पुत्र का ऑपरेशन किया गया जिसके परिणामस्वरूप वह मारा गया.

शिकायत के अनुसार इस समय बाद डॉक्टर शकील अफ़रीदी क्षेत्र में चिकित्सा अधिकारी थे और उन्हें सर्जरी नहीं आती थी लेकिन फ़िर भी उन्होंने यह आपरेशन किया इसलिए वह मौत के ज़िम्मेदार हैं.

इस मुकदमे की सुनवाई सहायक राजनीतिक एजेंट ही मजिस्ट्रेट के रूप में जेल में आकर करेंगे.

डॉक्टर शकील अफ़रीदी के वकील का कहना है कि उनका अभी शकील अफ़रीदी से कोई संपर्क नहीं हुआ इसलिए वह इस मामले को लेकर उनके रुख से अनभिज्ञ हैं.

उन्होंने कहा कि अगर इस मामले के लिए भी उनसे संपर्क किया गया तो वह उन्हें कानूनी सहायता प्रदान करेंगे.

डॉक्टर शकील अफ़रीदी के वकील शमीउल्लाह ने कहा ''सवाल यह है कि इतने साल प्रशासन, स्वास्थ्य विभाग और सरकार कहां सोए हुए थे. अगर ऐसा कोई घटना हुई थी तो तब कार्रवाई क्यों नहीं की गई.''

इसके पहले

ताज़ा घटनाक्रम तब सामने आया है जब दो महीने पहले एक अदालत ने डॉक्टर अफ़रीदी को सुनाई गई सज़ा को पलट दिया था.

डॉक्टर अफ़रीदी को ख़ैबर क़बाइली एजेंसी की एक अदालत ने प्रतिबंधित चरमपंथी संगठन के साथ कथित संबंध के लिए 33 वर्ष जेल की सज़ा सुनाई थी.

लेकिन अगस्त में एक अदालत ने कुछ ख़ामियों का हवाला देते हुए फ़ैसले को पलट दिया था.

ओसामा बिन लादेन को अमरीकी बलों ने मई 2011 में ऐबटाबाद में मार गिराया था.

ओसामा के मारे जाने की वजह से अमरीका और पाकिस्तान के रिश्तों में कड़वाहट आ गई थी क्योंकि पाकिस्तान ने इसे उसकी सम्प्रभुता का उल्लंघन माना था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार