पाक में पोलियो कार्यकर्ताओं की रिहाई की उम्मीद

  • 25 नवंबर 2013
Image caption पाकिस्तान में पोलियो कार्यकर्ताओं को विद्रोही अक्सर निशाना बनाते हैं.

पाकिस्तान के पश्चिमोत्तर ख़ैबर क्षेत्र में कबायली नेता बंधक बनाए गए पोलियो कार्यकर्ताओं की रिहाई के लिए संदिग्ध चरमपंथियों से बातचीत कर रहे हैं.

चरमपंथियों ने स्कूली बच्चों को पोलियो अभियान में लगे चार शिक्षकों को बारा इलाक़े के एक स्कूल से अगवा कर लिया था.

इलाक़े में चरमपंथी अक्सर पोलियोकार्यकर्ताओं का अपहरण कर लेते हैं. उनका आरोप है कि ये कार्यकर्ता पश्चिमी देशों के जासूस हैं और उनकी गतिविधि मुस्लिमों को नपुंसक बनाने की साज़िश का एक हिस्सा है.

पाकिस्तान में अब भी पोलियोके मामले सामने आ रहे हैं.

संवाददाताओं का मानना है कि चरमपंथियों के विरोध के कारण देश में पोलियो अभियान में अड़चनें आ रही हैं.

बारा में एक वरिष्ठ सरकारी अधिकारी ने समाचार एजेंसी एएफपी को बताया कि पोलियो कार्यकर्ताओं के अपहरण के पीछे लश्कर-ए-इस्लामी संगठन का हाथ है.

अधिकारी ने कहा, "कबायलियों की सबसे बड़ी पंचायत जिरगा ने लश्कर-ए-इस्लामी के लोगों से बातचीत शुरू कर दी है. हमें पोलियो कार्यकर्ताओं के जल्द रिहा होने की उम्मीद है."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार