दो साल तक तीन बेटियों को बंधक बनाकर रखा

एरिज़ोना परिजन

अमरीका के एरिजोना प्रांत की पुलिस का कहना है कि तीन बहनों को बेहद अमानवीय हालात में उनकी माँ और सौतेले पिता ने बंधक बनाकर रखा था. मामला टकसन शहर का है.

पुलिस के मुताबिक 12 और 13 साल की दो बहनें किसी तरह भागने में कामयाब रहीं और अपने पड़ोसी को पूरा मामला बताया. इन लड़कियों के मुताबिक उनके सौतेले पिता ने चाकू से हमला करने की कोशिश की थी.

बाद में पहुँची पुलिस ने एक कमरे में बंद 17 वर्षीय लड़की को रिहा कराया.

लड़कियाँ बेहद अमानवीय हालात में रह रहीं थी. वे कुपोषण से पीड़ित थी. लड़कियों ने पुलिस को बताया कि वे छह महीने से नहीं नहाईं हैं.

लड़कियों ने पुलिस को बताया कि उन्हें अलग-अलग रखा गया था और उन्होंने पिछले दो सालों के दौरान एक दूसरे को नहीं देखा था.

यौन शोषण

Image caption लड़कियों को इसी घर के अलग-अलग कमरों में बंधक बनाकर रखा गया था.

सौतेले पिता 34 वर्षीय फर्नांडो रिक्टर और माँ 32 वर्षीय सोफ़िया रिक्टर पर भावनात्मक और शारीरिक शोषण करने और अपहरण के तीन आरोप लगाए गए हैं. पिता पर यौन शोषण का आरोप भी लगाया गया है.

बंधक बनाई गई इन लड़कियों की 24 घंटे निगरानी की जाती थी और उन्हें साउंडप्रूफ़ कमरों में रखा गया था.

टकसन पुलिस के मुखिया रोबर्टो विलासेनॉर के मुताबिक, "लड़कियों के चलने-फिरने को पूरी तरह नियंत्रित किया गया था. वे बॉथरूम कब जाती थी, खाना कब खाती थी यह सब नियंत्रित था."

पुलिस के मुताबिक लड़कियों के कमरों में तेज़ आवाज़ में संगीत बजाया जाता था और दरवाज़ों के नीचे तौलिए लगा दिए गए थे ताकि बाहर आवाज़ न जाए.

छुड़ाई गईं लड़कियाँ फिलहाल बाल कल्याण विभाग की निगरानी में हैं.

सबसे बड़ी लड़की ने बंधक बनाए जाने के दौरान एक डायरी लिखना शुरू किया था. जाँचकर्ता अब इसका अध्ययन कर रहे हैं.

पुलिस यह पता लगाने की कोशिश भी कर रही है कि क्या लड़कियाँ स्कूल जाती थीं.

बुधवार को अदालत में पेशी के दौरान माँ-बाप में से किसी ने भी कोई याचिका दायर नहीं की.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार