ब्रिटेनः 3000 ₹ में बिक रहा भारत का 'आकाश'

ब्रिटेन
Image caption यूबीसलेट 7सी भारत द्वारा लांच किए गए आकाश 2 का ही व्यवसायिक संस्करण है.

ब्रिटेन की कंपनी डेटाविंड ने आम ग्राहकों के लिए यूबीसलेट 7सी नाम से टैबलेट बाजार 30 पाउंड या 3000 ₹ में उतारा है. खास बात ये है कि यूबीसलेट 7सी नाम का यह टैबलेट उस आकाश 2 का व्यावसायिक संस्करण है, जिसे मूलरूप से भारत ने लांच किया था.

यूबीसलेट 7सी के जरिए इंटरनेट को बेहद किफायती दरों पर उपलब्ध किया गया है ताकि शिक्षा के स्तर में सुधार लाया जा सके. पढ़ने-पढ़ाने के तौर-तरीके में सुधार लाया जा सके.

टैबलेट की इस खासियत के कारण छात्रों को ये खासा पसंद आ रहा है.

बेहद कम कीमत होने के साथ ही साथ 7 इंच (18सेमी) के इस एंड्रॉयड टैबलेट कई और खूबियां हैं. इसमें वाई-फाई के अलावा 512 एमबी रैम, एक माइक्रो यूएसबी कनेक्शन और 4जीबी स्टोरेज की सुविधा मौजूद है.

सस्ता इंटरनेट

यूबीसलेट 7सी टैबलेट की बैटरी भी काफी ख़ास है. यह बैटरी ऐसी है जो लगातार तीन घंटे चल सकती है. इस पर ऑनलाइन ट्यूटोरियल और वीडियो भी देखे जा सकते हैं.

यही नहीं इस टैबलेट पर इंटरनेट का इस्तेमाल और गेम खेलने की सुविधा भी उपलब्ध है.

साल 2011 में जब भारत में आकाश लांच किया गया था तो इसे "दुनिया का सबसे सस्ता टच-स्क्रीन टैबलेट" कहा गया था. आकाश को खासकर स्कूलों और कॉलेजों को ध्यान में रख कर तैयार किया गया था.

आकाश टैबलेट के पहले संस्करण को लेकर आलोचकों में कोई खास उत्साह नहीं दिखा था. मगर जब आकाश 2 संस्करण आया तो इसे पहले की अपेक्षा काफी अच्छी प्रतिक्रिया मिली.

वायर्ड 2013 कांफ्रेंस में बोलते हुए सुजीत सिंह टुली, जिन्होंने डेटाविंड की नींव रखी थी, ने कहा कि इसे ऑनलाइन बनाना सामर्थ्य पर निर्भर करता है.

उन्होंने कहा, "ये मामला एक किफायती उपकरण बनाने तक ही सीमित नहीं है, हमें ग्राहकों तक इंटरनेट की सुविधा भी पहुंचानी थी."

कीमत की भरपाई

Image caption डेटाविंड के संस्थापक सुजीत सिंह टुली

भारत सरकार के साथ साझा कारोबार करने वाली कंपनियों ने आकाश 2 को देश के बेहद लोकप्रिय टैबलेट में से एक बनाने में मदद की.

टुली कहते हैं, "इस साल की शुरुआत में हम ऐपल और सैमसंग को पीछे छोड़ते हुए भारत के टैबलेट कंप्यूटर के सबसे बड़े आपूर्तिकर्ता बन गए." हालांकि उसके बाद से सैमसंग कंपनी आपूर्ति में सबसे आगे है.

कंपनी का कहना है कि वह इस उपकरण की कीमत कम रख सकता था क्योंकि कंपनी हार्डवेयर की कीमत की भरपाई विषय सामग्री और विज्ञापन से होने वाली आय से कर सकती थी.

अनुसंधान कंपनी सीसीएस इनसाइट के विश्लेषक, बेन वूड का कहना है, "हकीकत तो ये है कि किसी भी उपभोक्ता इलेक्ट्रानिक उपकरण से आप उतनी सेवाएं ले लेते हैं जितने के लिए आप पैसे चुकाते हैं."

इस कंपनी को साल 2012 में ब्रिटेन की एक सरकारी प्रतियोगिता में ब्रिटेन के सबसे नवोन्मेषी मोबाइल कंपनी का खिताब मिल चुका है. कंपनी के पास इससे ज़्यादा सुविधाओं वाले दो अन्य टैबलेट हैं जिनका कंपनी की वेबसाइट पर विज्ञापन किया गया है.

टेस्को और अलदी दोनों कंपनियां हाल ही में "कम-लागत" वाले टैबलेट के बाजार में शामिल हुई हैं. टेस्को के 7इंच हुडल उपकरण 120 पाउण्ड में और अलडी के 7 इंच मीडियोन लाइफटैब अपने लांच होने के बाद 80 पाउण्ड में बिके. आर्गोज ने 100 पाउण्ड का टैबलेट लांच किया है जिसे माईटैबलेट के नाम से पुकारा जा रहा है.

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फ़ेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार