गुटबाज़ी के कूड़े का ख़ात्मा था चांग की फांसीः किम जोंग उन

किम जोंग उन

उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन ने अपने फूफा चांग सोंग थाएक को फांसी पर चढ़ाए जाने के बारे में पहली बार सार्वजनिक प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए 'गुटबाजी के कूड़े' का ख़ात्मा क़रार दिया है.

किम जोंग उन ने सरकारी टेलीविज़न पर प्रसारित नए साल के संदेश में कहा इस 'दृढ़ कार्रवाई' से देश की एकता सुदृढ़ हुई है.

उत्तर कोरिया ने गत 13 दिसंबर को घोषणा की थी कि चांग सोंग थाएक को देशद्रोह के ज़ुर्म में फांसी पर लटका दिया गया है.

इस क़दम की दुनियाभर में आलोचना हुई थी और इससे देश में अस्थिरता की आशंकाएं उपजी थीं.

किम जोंग उन ने कहा कि सत्तारूढ़ वर्कर्स पार्टी में 'गुटबाजी के कूड़े' के ख़ात्मे से देश की एकता 100 गुना मजबूत हुई है.

पार्टी की एकता

उन्होंने चांग पर पार्टी के भीतर अपना अलग गुट बनाने का आरोप लगाते हुए कहा, "हमारी पार्टी की समय पर की गई उचित कार्रवाई से पार्टी विरोधी तत्वों का खात्मा हो गया है और इससे पार्टी की एकता मजबूत हुई है."

चांग की शादी देश के दिवंगत नेता किम जोंग इल की बहन से हुई थी. माना जाता है कि किम जोंग उन ने जब वर्ष 2011 में अपने पिता की गद्दी संभाली थी तो चांग ने उनका पूरा साथ दिया था.

चांग को देश का दूसरा सबसे शक्तिशाली नेता माना जाता था लेकिन उन्हें पार्टी की एक विशेष बैठक के दौरान सशस्त्र गार्डों ने जबर्दस्ती हटाया और फिर उन्हें सभी पदों से वंचित कर दिया गया.

सरकारी समाचार एजेंसी केएनसीए ने बाद में बताया कि चांग ने सैन्य मुकदमे के दौरान स्वीकार किया कि उन्होंने देश की सत्ता को उखाड़ने का प्रयास किया था. चांग को फिर तुरंत फांसी दे दी गई.

विश्लेषकों का मानना है कि चांग को रास्ते से हटाए जाने का एक कारण यह भी हो सकता है कि वह चीन के आर्थिक उदारवाद के प्रशंसक थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार