ड्राइविंग के वक्त गूगल ग्लास पहनने पर कटा चालान रद्द

गूगल ग्लास सेसेलिया अबैदी इमेज कॉपीरइट AP

कैलिफ़ोर्निया में गूगल ग्लास पहनने के कारण जिस महिला का चालान काटा गया था, उनसे आरोप वापस ले लिया गया है.

सेसिलिया अबैदी का पिछले साल 30 अक्तूबर को तेज़ रफ़्तार से गाड़ी चलाने और स्मार्ट चश्मा पहनने के आरोप में चालान काटा गया था.

उन पर कैलिफ़ोर्निया के उस कानून के तहत कार्रवाई की गई थी जिसमें वाहन चालकों को ड्राइविंग करते वक्त टीवी देखने की मनाही है.

इस मामले में सैन डियागो कोर्ट के कमिश्नर ने गुरुवार को यह चालान रद्द करने का आदेश देते हुए कहा कि उन्हें ऐसा कोई सुबूत नहीं मिला है कि गाड़ी चलाते समय वह उपकरण काम कर रहा था.

"मॉनीटर सा है"

इस फ़ैसले के बाद वेब और मोबाइल एप्लीकेशन्स विकसित करने वाली अबैदी ने कहा कि ग्लास से ड्राइवर के लिए कोई "ब्लाइंड स्पॉट" नहीं बनता या यूं कहें कि उसे देखने में कोई दिक्कत नहीं आती.

उन्होंने संवाददाताओं से कहा, "मुझे लगता है कि हमें इस तरह के उपकरणों के साथ प्रयोग शुरू करना चाहिए. एक हैंड्सफ़्री उपकरण सेल फ़ोन के मुकाबले ज़्यादा सुरक्षित होता है."

अबैदी उन 30,000 लोगों में से थीं जिन्हें, इस उपकरण के इस साल बाज़ार में उपलब्ध होने से पहले, परीक्षण करने के लिए चुना गया था.

अबैदी को कैलिफ़ोर्निया हाईवे पैट्रोल ऑफ़िसर ने 65 किलोमीटर प्रतिघंटा गति सीमा वाली सड़क पर 128 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ़्तार से गाड़ी चलाते हुए पकड़ा था.

पैट्रोल ऑफ़िसर ने देखा कि अबैदी ने गूगल ग्लास पहना हुआ है और उन पर एक "मॉनीटर" इस्तेमाल करने की भी धारा लगा दी. यह धारा उन लोगों पर लागू की जाती है जो ड्राइविंग करते हुए टीवी देख रहे होते हैं.

गूगल ग्लास में चश्मे का फ़्रेम होता है जिसमें एक कैमरा और एक छोटा सा डिस्पले लगा होता है जिसे आवाज़ से नियंत्रित किया जा सकता है.

अबैदी का कहना था कि जब उन्हें रोका गया तब वह उपकरण चालू नहीं था.

कोर्ट कमिश्नर जॉन ब्लेयर ने माना कि गूगल ग्लास भी मॉनीटर की तरह ही है लेकिन उन्होंने कहा, "ऐसी कोई गवाही नहीं मिली है कि जब अबैदी गाड़ी चला रही थीं तब यह चालू था."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार