"समलैंगिकों को प्रचार नहीं करने देंगे"

व्लादिमिर पुतिन इमेज कॉपीरइट AP

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने कहा है कि समलैंगिकों का सोची में शीतकालीन ओलंपिक में स्वागत होगा लेकिन उन्हें 'प्रचार' नहीं करने दिया जाएगा.

पुतिन ने कहा, "हमने गैर पारंपरिक सेक्स रिश्तों को प्रतिबंधित नहीं किया है. हमने बच्चों में समलैंगिकता और बाल यौन शोषण को बढ़ावा देने को प्रतिबंधित किया है."

वे अगले महीने सोची शहर में होने वाले शीतकालीन ओलंपिक खेलों में मदद करने वाले स्वयंसेवकों को संबोधित कर रहे थे.

पुतिन ने बीबीसी न्यूज़ को बताया कि रूस आयोजनों को प्रभावित किए बिना खेलों की सुरक्षा सुनिश्चित करेगा.

बीबीसी वन के एंड्रयू मार्र शो में वोल्गोग्राद आत्मघाती हमलों के तीन सप्ताह बाद बात करते हुए पुतिन ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय को चरमपंथ के ख़िलाफ़ एकजुट हो जाना चाहिए.

पुतिन ने उन आरोपों को भी नकार दिया कि सोची ओलंपिक उनकी व्यक्तिग शान बढ़ाने के उद्देश्य से आयोजित किए जा रहे हैं. उन्होंने कहा कि 1991 में सोवियत संघ के पतन और मुश्किल सालों के दौर के बाद रूस के लोगों का मनोबल बढ़ाने के लिए इनका आयोजन किया जा रहा है.

सतरंगी पोशाक

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption पुतिन ने कहा कि समलैंगिकता का प्रोपागेंडा नहीं करने दिया जाएगा.

शुक्रवार की बैठक में एक स्वयंसेवी ने सोची ओलंपिक की इंद्रधनुषी सतरंगी पोशाक पर टिप्पणी करते हुए सवाल किया कि क्या पोशाक समलैंगिक प्रचार पर लगे प्रतिबंध का उल्लंघन कर सकती हैं.

इस पर पुतिन ने कहा कि उन्होंने पोशाक डिज़ाइन नहीं की है.

टीवी पर प्रसारित एक बयान में पुतिन ने कहा, "न ही हम किसी चीज़ पर प्रतिबंध लगा रहे हैं और न ही किसी को गिरफ़्तार कर रहे हैं."

"आप अपने रिश्तों में स्वतंत्र रहिए लेकिन बच्चों को सुरक्षित रहने दीजिए."

दुनिया भर के समलैंगिक अधिकारों के कार्यकर्ताओं ने रूस के विवादित नए क़ानून के विरोध में शीतकालीन ओलंपिक खेलों के बहिष्कार का आह्वान किया है. ये क़ानून जून 2013 में पारित हुआ था.

बाल सुरक्षा क़ानून में संशोधन के बाद 18 साल से कम उम्र के लोगों को समलैंगिकता के बारे में जानकारी देने पर जुर्माने का प्रावधान है.

आलोचकों का कहना है कि संशोधन में इस्तेमाल की गई शब्दावली और अधिकारियों के उसी व्याख्या के तरीके के चलते रूस में सार्वजनिक तौर पर समलैंगिक अधिकारों से जुड़े किसी भी कार्यक्रम को आयोजित करना लगभग नामुमकिन गया है.

रूस के कुछ बड़े नेताओं ने कहा है कि वे 7 से 23 फ़रवरी तक होने वाले सोची ओलंपिक खेलों में शामिल नहीं होंगे.

अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने घोषणा की है कि उनके ओलंपिक प्रतिनिधिमंडल में कई समलैंगिक खिलाड़ी शामिल हैं. इनमें मशहूर पूर्व टेनिस खिलाड़ी बिली जीन किंग भी शामिल हैं.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption वोल्गोग्राद धमाकों में घायल एक व्यक्ति से मिलने पहुँचे व्लादिमिर पुतिन.

नए साल की छुट्टियों से कुछ दिन पहले ही आत्मघाती हमलावरों ने वोल्गोग्राद सेंट्रल रेलवे स्टेशन पर हमले किए थे जिनमें 32 लोगों की मौत हुई थी और 70 घायल हुए थे.

ये हमले रूस के उत्तरी कॉकेसस इलाक़े में सक्रिय इस्लामी चरमपंथियों की सोची ओलंपिक खेलों के दौरान हमले करने की धमकियों के बाद हुए थे.

शुक्रवार को चरमपंथियों ने दागेस्तान के मखाचकाला में एक रेस्तरां में हमला किया जिसमें सात लोग घायल हो गए.

पुतिन ने बीबीसी से कहा, "अंतरराष्ट्रीय समुदाय को चरमपंथी हमलों और निर्दोष लोगों की हत्या जैसी अमानवीय घटनाओं से निपटने के लिए एकजुट हो जाना चाहिए."

उन्होंने कहा, "आयोजक के रूप में हमारी ज़िम्मेदारी खेलों में शामिल होने वाले लोगों और दर्शकों की सुरक्षा सुनिश्चित करना है लेकिन रूस ऐसे सुरक्षा उपाय लागू करेगा जिनका असर खेलों पर न हो."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार