दावोस में रंग जमाने वाले सबसे युवा उमर

उमर अनवर जहांगीर इमेज कॉपीरइट world economic forum

भला कितने लोगों को 21 साल की उम्र में वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम में पहुंच कर ग्लोबल एजेंडा तय करने का मौका मिलता होगा. पाकिस्तान के युवा उद्यमी उमर अनवर जहांगीर जरूर अपवाद हैं.

आमतौर पर वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरमके दरवाजे सबके लिए आसानी से नहीं खुलते. उमर ने न केवल इस दरवाजे को खोला बल्कि इस फोरम के खास 'ग्लोबर शेपर' में भी शामिल हो गए, जिसमें दुनिया की बेहतरीन 50 युवा दिमागदारों को शामिल किया जाता है.

उमर डॉक्टरी की पढाई कर रहे हैं. साथ-साथ उन्होंने साथी छात्रों के साथ मिलकर पाकिस्तान के कराची में 'बहरिया मेडिक्स' नाम की एक संस्था बनाई है, जो चिकित्सा के क्षेत्र में कल्याणकारी काम करती है.

उमर बहरिया के प्रमुख रणनीतिकार और संचालक हैं. इसके तमाम कामों में जोरशोर से भूमिका निभाते हैं. मसलन-ब्लड बैंक, मेडिकल कैंप और संस्था के लिए पैसा जुटाना.

एक ब्रितानी अखबार टेलीग्राफ से उन्होंने कहा, ''मैं शुरुआती उम्र से ही लोगों की मदद करना चाहता था. हालांकि मेरी उम्र को देखकर लोग कहते थे कि मुझे इंतजार करना चाहिए लेकिन मेरा मानना है जो करना है वो करो, कल के लिए मत टालो.''

लगे रहे

इमेज कॉपीरइट AP

उमर ने जब काम शुरू किया तब आमतौर पर हतोत्साहित किया गया. लोगों ने कहा कि वह समय बर्बाद कर रहे हैं, इससे उनकी डॉक्टरी की पढाई चौपट हो जाएगी लेकिन वह लगे रहे.

उन्होंने कहा, "मुझे ये सब करने के लिए कड़ा संघर्ष करना पड़ा. मैने वास्तव में कुछ बड़े काम हाथ में लिये."

इस साल गर्मियों में उनकी संस्था बहरिया मेडिक्स का लक्ष्य मुफ्त दवा उपलब्ध कराना है. उनका एक और उपक्रम रूमी स्ट्रैटजीज युवकों को यूनिवर्सिटीज में पहुंचने में मदद करता है.

इमेज कॉपीरइट AP

उमर के पिता पाकिस्तान में टीवी के सीनियर अधिकारी हैं, जो उन्हें हमेशा उत्साहित करते हैं. ऐसी ही भूमिका मां की भी रहती है.

दावोस फोरम में आने वाले प्रतिनिधियों की औसत उम्र उनसे दस साल ज्यादा रहती है. उमर को लगता है कि युवा होना दावोस आने में कोई बाधा नहीं है. यहां सबको अपनी बात कहने का मौका मिलता है और उच्च स्तरीय बहसों को ध्यान से सुना जाता है.

दावोस वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम में सौ देशों से ऊपर के ढाई हजार से ज्यादा राजनीतिक और बिजनेस लीडर हिस्सा ले रहे हैं. इसमें करीब 40 देशों के राष्ट्रप्रमुख या सरकार के प्रमुख लोग भी पहुंचे.

रोचक बात ये भी है कि अगर उमर महज 21 साल के हैं तो फोरम में आने वाले सबसे ज्यादा उम्र के प्रतिनिधि हैं नब्बे वर्षीय इजराइल के राष्ट्रपति शिमोन पेरेज.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार