'रूठे' सऊदी अरब से मिलने जाएंगे ओबामा

बराक ओबामा इमेज कॉपीरइट Reuters

अमरीकी राष्ट्रपति के कार्यालय ने इस बात की पुष्टि की है कि राष्ट्रपति बराक ओबामा मार्च में सउदी अरब जा रहे हैं.

व्हाईट हाउस का कहना है कि मुल्क के राजा अब्दुल्लाह से मुलाकात में मध्य पूर्व की सुरक्षा से जुड़े अलग-अलग मुद्दों पर बातचीत होगी.

बातचीत में ईरान के परमाणु मामले पर पश्चिमी देशों और ईरान के बीच हो रही वार्ता पर भी विचार विमर्श किया जाएगा. साल 2009 के बाद बराक ओबामा की सउदी अरब की ये पहली यात्रा है.

राष्ट्रपति कार्यालय के प्रवक्ता जे कार्नी ने कहा, "सउदी अरब अमरीका का बहुत ही खास दोस्त है और दोनों के बीच के रिश्ते बहुत व्यापक और मजबूत हैं, ये रिश्ते बहुत सारे क्षेत्रों में हैं. राष्ट्रपति इस दौरे का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं जिसके बीच बहुत सारे मुद्दों पर बातचीत होगी. हमारे बीच जो भी मतभेद है उसका हमारे मज़बूत रिश्तों पर कोई असर नहीं है."

'तनावपूर्ण रिश्ते'

अमरीका और सउदी अरब के रिश्ते हाल के दिनों में सीरिया और ईरान जैसे मुद्दों को लेकर थोड़े तनावपूर्ण हो गए हैं.

सउदी अरब चाहता था कि अमरीका सीरिया में सीधा सैन्य हस्तक्षेप करे. वो ईरान और पश्चिमी मुल्कों के बीच हो रही बातचीत को लेकर भी बहुत खुश नहीं है.

इस क्षेत्र में सउदी अरब ईरान को अपना प्रतिद्वंदी मानता है और सीरिया के राष्ट्रपति बशर अल असद को ईरान का क़रीबी बताया जाता है.

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फ़ेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार