किसी को यकीन नहीं था कि वो अरबपति बनेंगे

मारियो मोरेट्टी पोलेगाटो

मारियो मोरेट्टी पोलेगाटो से जूतों और कपड़ों की कंपनी चलाने की उम्मीद नहीं की गई थी. उनसे तो अपना व्यवसाय शुरू करने की उम्मीद भी नहीं की गई थी.

उनकी मां ने उन्हें बताया था कि जब वह छोटे थे तो उनके पिता ने उनके होंठों पर वाइन लगाकर यह घोषणा की थी कि वह उत्तर-पूर्वी इटली में परिवार के वाइनरी के काम को संभालेंगे.

हालांकि उन्होंने अपने पारिवारिक व्यवसाय में काम करना शुरू किया था लेकिन वह वहां टिके नहीं- और वह सिर्फ़ इसलिए कि वह एक व्यापारिक यात्रा पर अमरीका गए थे.

रेनो में एक वाइन कॉंफ्रेंस में शामिल होने के बाद पोलेगाटो ने नेवादा रेगिस्तान में छुट्टियां बिताने का फ़ैसला किया.

जब वह वहां पहुंचे और चलने लगे तो उनके पैर इतने गर्म और तकलीफ़देह हो गए कि उन्होंने अपना स्विस चाकू निकाला और अपने जूतों में छेद कर दिए.

इससे उन्हें तुरंत राहत मिली. उन्होंने तय किया कि जूते बनाए जाने के तरीके बदलने की ज़रूरत है.

और यह काम वही करने वाले थे.

बौद्धिक संपदा

बासठ वर्षीय पोलेगाटो कहते हैं, "मैं चाहता था कि जूते वाटरप्रूफ़ और हवादार दोनों हों."

"मैंने तीन साल तक अपने पेटेंट पर शोध किया और सभी बड़ी जूता कंपनियों को इसे दिखाया लेकिन किसी ने मुझ पर यकीन नहीं किया."

"लेकिन मुझे इस परियोजना पर पूरी तरह यकीन था. यह विचार इतना सीधा था और समझाना इतना आसान था."

बड़े जूता निर्माताओं के इनकार के बाद 17 साल पहले बैंक से कर्ज़ लेकर पोलेगाटो ने अपनी खुद की जूता निर्माण कंपनी शुरू की- जिओक्स. इसने उन्हें अरबपति बना दिया.

शुरुआत में उन्होंने अपने गांव बिआदेने दि मोन्टेबेलुना के पांच युवाओं को काम पर रखा. उनमें से वह किसी को नहीं जानते थे और किसी ने भी पहले काम नहीं किया था, न ही यह अंदाज़ा था कि व्यापार कैसे किया जाता है.

आज जिओक्स एक वैश्विक कंपनी है जिसमें 30,000 कर्मचारी (मूल पांच को मिलाकर) काम करते हैं और इसके दुनिया भर में 1,300 स्टोर हैं.

शुरुआत में सिर्फ़ जूतों पर ही काम करती रही कंपनी बाद में कपड़ों के व्यवसाय में भी उतर गई.

दस साल पहले कंपनी मिलान स्टॉक एक्सचेंज में लिस्ट हुई और इसके 29% शेयर बिक गए. बाकी 71% पोलेगाटो के पास हैं.

लेकिन इस शानदार, उल्लेखनीय सफलता के बावजूद पोलेगाटो बताते हैं कि जिओक्स की शुरुआत बहुत धीमी थी. वह इसे "एक शौक की तरह" चलाते थे और अपने पारिवारिक व्यवसाय में भी काम करते थे, ताकि वेतन मिलता रहे.

वह कहते हैं कि उन्होंने ग़लती यह की कि तीन साल अपने पेटेंटे को बेचने की नाकाम कोशिश की. वह सोचते हैं कि इसके बजाय उन्होंने जिओक्स को पहले बेच दिया होता.

वह सोचते हैं कि उन्होंने सही काम यह किया कि सीधे 100 देशों में पेटेंट के लिए आवेदन कर दिया.

इमेज कॉपीरइट geox

वह कहते हैं, "आपको अपने आइडिया को बचाना होता है. इस व्यापार में 17 साल बाद भी हमारा उत्पाद अनोखा है क्योंकि मैंने पेटेंट के ज़रिए इसको बचाया है."

पोलेगाटो अपनी खोजों को बचाने के इतने मतबूत पक्षधर हैं कि वह यूरोपीय पेटेंट कार्यालय के सदस्य हैं और यूरोपीय खोजी पुरस्कार के आवेदनों को छांटने में मदद करते हैं.

वह बौद्धिक संपदा पर भाषण भी देते हैं. वह कहते हैं, "मैं आपको एक किस्सा सुनाता हूं. कई साल पहले नेपल्स में एक किसी ने एसप्रेसो और किसी ने पिज़्ज़ा बनाया लेकिन कोई नहीं जानता किसने. और आज हर कोई अमरीकी कंपनी स्टारबक्स को कॉफ़ी के लिए और अमरीकी कंपनी पित्ज़ा हट को पित्ज़ा के लिए जानता है."

पोलेगाटो यह किस्सा एक आइडिया होने और उसे इस्तेमाल करने के फ़र्क को दिखाने के लिए सुनाते हैं. उन्हें लगता है कि यूरोप और ख़ासतौर पर इटली में आइडिया वाले लोगों के लिए पर्याप्त समर्थन नहीं है.

वह कहते हैं, "इटली में स्कूल अन्वेषण या रिसर्च की व्याख्या नहीं करते, इसका समर्थन नहीं करते और यही समस्या स्थानीय नीतियों के साथ भी है. वह रिसर्च में निवेश नहीं करते."

वह कहते हैं, "इतालवी उद्यमियों की अंतर्राष्ट्रीय बाज़ार में अच्छी साख है लेकिन यह इतालवी राजनेताओं की नहीं है."

"वह (राजनेता) अफ़सरशाही में सुधार की बात करते हैं... लेकिन कोई भी अर्थव्यवस्था की बात नहीं करता, उद्यमियों को पुरस्कार की बात नहीं करता."

ऐसा नहीं है कि जिओक्स ऐसी कंपनी हो जिसमें कोई दिक्कत न हो.

नई दिशा

साल 2013 के पहले नौ महीनों में कंपनी की बिक्री 11.9% गिर गई और इसकी ताज़ा फ़ाइनेंशियत स्टेटमेंट में कंपनी ने माना है कि यूरोज़ोन के ऋण संकट की वजह से बरती जा रही मितव्ययिता से उसे भारी नुकसान हुआ है.

वह "यूरोप और ख़ासतौर पर भूमध्यसागरीय क्षेत्र में" आर्थिक और वित्तीय स्थितियों को बेहद मुश्किल बताते हैं.

इसका परिणाम यह है कि कंपनी का पुनर्गठन किया जा रहा है. यह खराब प्रदर्शन कर रहे स्टोर, ख़ासतौर पर यूरोप में स्थित, को बंद कर रही है. 2013 में 115 को बंद किया गया और 68 को इस साल बंद करने की योजना है.

इमेज कॉपीरइट geox

लेकिन यूरोप में बंद कर रही है तो एशिया में खोल रही है. कंपनी की योजना चीन में 400 स्टोर खोलने की है.

कंपनी महिलाओं के लिए कपड़ों और जूतों का उत्पादन बढ़ाना चाहती है. आज के समय वैश्किल जूता बाज़ार की 60% बिक्री महिलाओं के सामान की होती है.

इसका मतलब यह हुआ कि अपने उत्पादों की वाटरप्रूफ़ और हवादार विशेषताओं (जो कायम रहेंगी) के बजाय इन्हें फ़ैशन आइटम के रूप में ज़्यादा प्रचारित किया जाएगा. इसके लिए ज़्यादा महिलाओं को नियुक्त किया जाएगा.

पोलेगाटो कहते हैं, "पूरी तरह दिशा बदलना ज़रूरी है. हम शहरी तरीके का प्रतनिधित्व करना चाहते हैं.... ऐसे जूते जो आप 10 घंटे पहन सकें."

वह कहते हैं कि चुनौती ऐसे उत्पाद तैयार करना है जो दुनिया के विभिन्न मौसमों और फ़ैशनों के हिसाब से चल सकें.

तो साल 2014 के लिए उनके पास काम कम हो गया है. वह इसके दबाव को कैसे झेलेंगे?

पोलेगाटो कहते हैं, "आराम करने के लिए मैं अपने पुराने दोस्तों और परिवार के साथ समय बिताना पसंद करता हूं, एक गिलास प्रोसेक्को के साथ." खानदानी का व्यवसाय अब भी काम आता है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार