भारत ने टेस्ट बचाया, सिरीज़ गंवाई

  • 18 फरवरी 2014
विराट कोहली इमेज कॉपीरइट AFP

टीम इंडिया वेलिंगटन टेस्ट को ड्रॉ कराने में सफल रही लेकिन उसने न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ दो मैचों की सिरीज़ 0-1 से गंवा दी.

वेलिंगटन टेस्ट में भारत को जीत के लिए 67 ओवर में 435 रन का लक्ष्य मिला था और मैच के ड्रॉ होने तक उसने 52 ओवर में तीन विकेट पर 166 रन बनाए.

विराट कोहली ने 105 और रोहित शर्मा ने 31 रन बनाए. इन दोनों बल्लेबाज़ों ने चौथे विकेट की अविजित साझेदारी में 112 रन जोड़े.

टीम इंडिया ने अपने दो विकेट दस रन तक गंवा दिए थे. मुरली विजय सात और शिखर धवन दो रन बनाकर आउट हुए.

विराट और चेतेश्वर पुजारा फिर भारत के स्कोर को 54 रन तक ले गए. पुजारा 17 रन बनाकर आउट हुए.

विराट का छठा शतक पूरा होने के बाद दोनों टीमों के कप्तानों से मैच समाप्त करने पर सहमति जताई जबकि अभी 15 ओवर का खेल बाक़ी था.

न्यूज़ीलैंड ने भारत के ख़िलाफ़ साल 2002 के बाद पहली बार टेस्ट सिरीज़ जीती है. कीवी टीम ने ईडन पार्क में पहला टेस्ट 40 रन से जीता था.

तिहरा शतक

इससे पहले न्यूज़ीलैंड के कप्तान ब्रैंडन मैकुलम ने शानदार तिहरा शतक लगाकर एक नया इतिहास रचा. वे न्यूज़ीलैंड की ओर से तिहरा शतक लगाने वाले पहले बल्लेबाज़ बन गए हैं.

न्यूज़ीलैंड ने अपनी दूसरी पारी आठ विकेट पर 680 रन बनाकर घोषित कर दी.

32 साल के मैकुलम ने सर्वाधिक 302 रन बनाए, जबकि जिमी नीशम 137 रन बनाकर नाबाद रहे.

टेस्ट के पाँचवें दिन मैकुलम ने 281 रन से आगे खेलना शुरू किया और जल्द ही अपना तिहरा शतक पूरा किया. लेकिन वे 302 रन बनाकर ज़हीर ख़ान की गेंद पर आउट भी हो गए. लेकिन इससे पहले उन्होंने इतिहास में अपना नाम दर्ज करा लिया.

यह 28वां मौका है जब किसी बल्लेबाज़ में टेस्ट में तिहरा शतक बनाया है. वह यह कारनामा करने वाले 24वें खिलाड़ी है. ब्रायन लारा, वीरेन्दर सहवाग, क्रिस गेल और डॉन ब्रैडमैन ने दो बार तिहरे शतक बनाए हैं.

मैकुलम से पहले न्यूज़ीलैंड की ओर से एक पारी में सर्वाधिक रन बनाने का रिकॉर्ड पूर्व कप्तान मार्टिन क्रो के नाम था. वर्ष 1991 में श्रीलंका के ख़िलाफ़ वेलिंगटन में ही मार्टिन क्रो ने 299 रनों की पारी खेली थी.

रिकॉर्ड

इमेज कॉपीरइट AFP

लेकिन मैकुलम ने अब इसे पार कर लिया है. मैकुलम ने इसी टेस्ट के दौरान बीजी वॉटलिंग के साथ मिलकर छठे विकेट के लिए रिकॉर्ड साझेदारी भी निभाई. दोनों ने छठे विकेट के लिए 352 रन बनाए.

उनकी इसी पारी की बदौलत न्यूज़ीलैंड ने न सिर्फ़ पारी की हार बचाई बल्कि अब वो मज़बूत स्थिति में जा पहुँचा है. वॉटलिंग ने 124 रन बनाए. वॉटलिंग के बाद जिमी नीशम ने भी मैकुलम का अच्छा साथ निभाया.

नीशम ने भी अच्छी बल्लेबाज़ी करते हुए अपने पहले टेस्ट में ही शतक लगाया. न्यूज़ीलैंड ने अपनी पहली पारी में सिर्फ़ 192 रन बनाए थे.

भारत ने जवाब में 438 रन बनाए और 246 रनों की बढ़त हासिल की.

दूसरी पारी में एक समय न्यूज़ीलैंड ने अपने पाँच विकेट 94 पर गँवा दिए थे. लेकिन उसके बाद जो हुआ, वो इतिहास बन गया.

मैकुलम ने छठे विकेट के लिए वॉटलिंग के साथ मिलकर विश्व रिकॉर्ड साझेदारी की. वॉटलिंग 124 रन बनाकर आउट हुए.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार