परमाणु रक्षा स्थल पर तोड़-फोड़ के जुर्म में नन को सज़ा

इमेज कॉपीरइट Reuters

एक बुजुर्ग कैथोलिक नन को एक अमरीकी परमाणु रक्षा स्थल में तोड़-फोड़ कर नुकसान पहुंचाने की वजह से लगभग तीन साल की जेल की सज़ा सुनाई गई है.

84 साल की सिस्टर मेगन राइस और दो अन्य प्रदर्शनकारियों ने सुरक्षा घेरा तोड़ कर प्रतिबंधित क्षेत्र ओक रिज़, टेनेसी, में प्रवेश किया, जहां यूरेनियम का संवंर्धन और भंडारण होता है.

अन्य दोनों अपराधियों, माइकल वालि और ग्रेग ब्रोत्जे-ओबेद, को पांच वर्ष से अधिक की जेल की सज़ा सुनाई गई थी.

जुलाई 2012 की इस घटना ने Y-12 स्थल पर सुरक्षा बंदोबस्त में परिवर्तन के लिए मजबूर किया था.

नोक्सविले में मंगलवार को अदालत की सुनवाई के दौरान सिस्टर मेगन राइस ने कहा " कृपया, मेरे साथ कोई उदारता नहीं बरती जाए,".

"जेल में जीवन के बाकी दिन रहने का मौका देकर आप मुझे सबसे बड़ा उपहार दे सकेंगे."

सुरक्षा व्यवस्था में कमी

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption ट्रांसफॉर्म नाउ प्लोवशेयर्स के सदस्यों को पिछले मई में दोष साबित होने पर सजा सुनाई गई.

सुनवाई के दौरान वाशिंगटन डीसी की रहने वाली सिस्टर मेगन ने कहा उसे सिर्फ इस बात का अफसोस है कि कार्रवाई के लिए इतनी देर का इंतजार का करना पड़ा.

शांति कार्यकर्ताओं और ट्रांसफॉर्म नाउ प्लोवशेयर्स के सदस्यों को पिछले मई में दोष साबित होने पर 20 साल की जेल की सज़ा सुनाई जा चुकी थी.

माइकल वालि और ग्रेग ब्रोत्जे-ओबेद को अपेक्षाकृत अधिक कठोर सज़ा सुनाई गई है क्योंकि इन दोनों का अपराध का लंबा इतिहास है.

इन दोनों को 1000 डॉलर की अधिक का सरकारी संपत्ति नुकसान करने का दोषी भी पाया गया है.

प्रतिबंधित घेरे के अंदर घुसने के बाद इन तीनों ने दिवालों पर पेंट स्प्रे किया, अपराध दृश्यों वाले टेप को नुकसान पहुंचाया और हथौड़े से दीवार को फोड़ा.

उन लोगों ने घेरे के अंदर दो घंटे बिताएं. इन तीनों ने परिसर के बाहरी दिवालों पर इंसानी खून को बच्चों की बोतल से स्प्रे किया.

जब सुरक्षा गार्ड इन तक पहुंचें तब इन्होंने उन्हें खाने की पेशकश की और गाना शुरू कर दिया.

बाद में अमरीकी सांसदों और ऊर्जा विभाग ने इसकी जांच शुरू की. इस घटना ने सुरक्षा व्यवस्था के कमियों को भी उजागर किया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार