फिर मिलेंगे उत्तर और दक्षिण कोरियाई परिवार

इमेज कॉपीरइट AFP

उत्तर और दक्षिण कोरिया के सैकड़ों लोग दशकों बाद अपने रिश्तेदारों से मिल रहे हैं. ये लोग कोरियाई युद्ध के बाद अपने परिवारों से अलग हो गए थे.

दक्षिण कोरिया से सौ से ज़्यादा लोग जिनमें ज़्यादातर बुज़ुर्ग हैं, गुरुवार को उत्तर पहुंच गए. इनमें बहुत से ऐसे लोग हैं जिन्होंने सालों से एक-दूसरे को नहीं देखा है.

दोनों देशों के बीच बेहतर संबंध बनाने की कोशिशों के तहत उत्तर कोरिया की पहल पर परिवारों के मिलने की ये प्रक्रिया शुरू की गई है जो 20 फरवरी से शुरू होकर 25 फ़रवरी तक चलेगी.

ये लोग ऐसे समय में मिल रहे हैं जबकि दक्षिण कोरिया ने अमरीका के साथ सैन्य अभ्यास की योजना बना रखी है जो कि सोमवार से शुरू होने वाली है.

इससे पहले उत्तर कोरिया ने सैन्य अभ्यास की वजह से इस मिलन को रद्द करने की धमकी दी थी.

गुरुवार को 82 दक्षिण कोरियाई बुजुर्ग अपने परिवार के 58 सदस्यों के साथ बस से उत्तर कोरिया के लिए रवाना हो गए.

इमेज कॉपीरइट Reuters

समाचार एजेंसी एएफपी की सूचना के अनुसार उनमें से एक दर्जन से अधिक व्हीलचेयर के सहारे थे और दो लोग तो एंबुलेंस में गए थे.

वे अपने रिश्तेदारों के लिए कपड़े, दवाई और भोजन समेत उपहार भी ले गए हैं.

इमेज कॉपीरइट AFP

स्थानीय समय के अनुसार 3 बजे वे उत्तर माउंट कुमांग रिसॉर्ट में अपने उत्तर कोरियाई रिश्तेदारों से एक साथ खाने पर मिलेंगे.

लगभग 180 उत्तर कोरियाई लोगों की इस मिलन कार्यक्रम में भाग लेने की उम्मीद हैं.

इमेज कॉपीरइट AFP

इस मिलन कार्यक्रम में शामिल 70 साल के दक्षिण कोरियाई नागरिक ली डू-यंग ने बीबीसी से बात करते हुए कहा, "लोगों का इस बात पर विश्वास करना मुश्किल है वह भी तब जब आप इतने लंबे समय से एक दूसरे से अलग हों. "

वो कहते हैं, "लेकिन यह एक सच होने वाला चमत्कार है, मैं बहुत रोमांचित हूँ. मेरे जीवन में मेरे भाई की कमी थी और अब मैं उसे फिर से देख सकता हूं, अगर मैं कल मर भी जाऊं तो मुझे कोई पछतावा नहीं होगा."

दक्षिण कोरिया के एकीकरण मंत्रालय ने बुधवार को कहा, "वर्तमान में मिलन के इस कार्यक्रम में किसी भी बाधा की आशंका नहीं दिख रही है."

इमेज कॉपीरइट Reuters

यह दोनों देशों के लोगों के लिए अत्यधिक भावनात्मक अवसर है. दोनों तरफ के परिवार अपने घरों को लौटने से पहले एक संक्षिप्त मुलाकात करेंगे.

एक बार में केवल 100 रिश्तेदारों को इस मिलन कार्यक्रम में हिस्सा लेने के लिए चुना जाता है.

साल 2010 में दोनों देशों के बीच तनाव के चलते उत्तर कोरिया ने मिलन कार्यक्रम रद्द कर दिया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार