अमरीकाः लादेन के दामाद के खिलाफ़ सुनवाई शुरू

इमेज कॉपीरइट ap

एक अमरीकी अभियोक्ता ने कहा है कि ओसामा बिन लादेन के दामाद ने 9/11 के हमले के बाद अपने शब्दों का इस्तेमाल लोगों को अमरीका के खिलाफ भड़काने में किया.

यह बयान लादेन के दामाद सुलेमान अबू गैथ पर आतंकी गतिविधियों में शामिल होने को लेकर शुरुआती बहस में दिया गया. सुलेमान अल क़ायदा के प्रवक्ता रह चुके हैं.

47 वर्षीय सुलेमान अबू गैथ ने अमरीकियों की हत्या की साजिश के आरोप से इनकार किया है. कुवैत के नागरिक सुलेमान को पिछले साल तुर्की से न्यूयॉर्क लाया गया था.

अभियोजन पक्ष के वकीलों का कहना है कि 11 सितंबर, 2001 को न्यूयॉर्क और वॉशिंगटन डीसी पर हमले के दूसरे दिन सुलेमान और लादेन साथ-साथ एक वीडियो में यहूदियों, ईसाइयों और अमरीकियों के खिलाफ जिहाद की अपील करते हुए नज़र आए थे. इस हमले में क़रीब 3000 लोग मारे गए थे.

असिस्टेंट अमरीकी अटॉर्नी निकोलस लेविन ने कहा कि गैथ एक जोशीले वक्ता हैं जिन्होंने इस हमले के कुछ महीने पहले अल क़ायदा के कैंप में ट्रेनिंग लेने वालों को प्रेरित करने के लिए उनसे बात की थी.

"सबूत नहीं डर और चेतावनी"

लेविन ने कहा कि अबू गैथ ने और हमले करने की अपील के लिए एक सामूहिक वीडियो में मौजूदगी की रजामंदी दी थी, ''जबकि हमारी इमारतें जल रही थीं. उन्होंने इस्लाम के बारे में अपने विकृत विचारों के साथ आह्वान किया और शैतान के दुश्मनों से लड़ाई करने और अमरीका के खिलाफ़ लड़ाई में अल क़ायदा का साथ देने की अपील की.''

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption अभियोजन पक्ष ने कहा कि सुलेमान एक जोशीले वक्ता हैं और उन्होंने लोगों को अमरीका के ख़िलाफ़ भड़काया है.

लेविन के अऩुसार, ''इसके बाद एक साल से भी ज्यादा समय तक अभियुक्त ने अपने शब्दों की शक्ति का इस्तेमाल अल क़ायदा को मजबूत करने में किया.''

सुलेमान कुवैती इमाम थे और लादेन की सबसे बड़ी बेटी फातिमा से उनकी शादी हुई थी. सुलेमान अल कायदा के पहले सबसे बड़े नेता हैं जिन पर हमले के बाद अमरीका में मुकदमा चलाया जा रहा है.

तुर्की द्वारा प्रत्यर्पित किए जाने के बाद 2013 में जॉर्डन में उन्हें अमरीकी अधिकारियों को सौंपा गया था.

अबू गैथ के वकील स्टेनली कोहेन ने अभियोजन पक्ष की दलील का मज़ाक बनाते हुए कहा, "देवियों और सज्जनों और आपने अभी-अभी एक फ़िल्म देखी है. अदालत का सत्र खत्म होने को है और कोई सबूत नहीं है. सबूत की जगह डर और चेतावनी ज्यादा है."

उन्होंने जूरी से खुले दिमाग से मामले को देखन की अपील की और कहा कि उनके मुवक्किल बिन लादेन नहीं हैं और यह सुनवाई 11 सितंबर की साजिश पर नहीं हो रही है.

सुलेमान पर सिविल कोर्ट में मुकदमा चलाए जाने के ओबामा प्रशासन के निर्णय की रिपब्लिकनों ने आलोचना की थी.

उनका कहना था कि सुलेमान अबू गैथ पर सैन्य ट्रिब्यूनल में मुकदमा चलाए जाने के लिए उन्हें गुआंतानामो बे जेल भेजा जाना चाहिए.

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फ़ेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार