क्राईमिया हमेशा रूस का हिस्सा रहा है: पुतिन

  • 18 मार्च 2014
व्लीदिमीर पुतिन इमेज कॉपीरइट Getty

रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने कहा है कि क्राईमिया हमेशा से रूस का हिस्सा रहा है.

पुतिन ने रूसी संसद के एक विशेष सत्र को संबोधित करते हुए कहा है कि, "लोगों के दिलों की गहराई में क्राईमिया हमेशा रूस का हिस्सा रहा है."

क्रेमलिन में संसद के विशेष सत्र में पुतिन ने सांसदों से आग्रह किया कि वह क्राईमिया के यूक्रेन से अलग होने और रूस में शामिल होने का समर्थन करें.

क्राईमियाई अधिकारियों का कहना है कि रविवार को क्राईमिया में हुए विवादित जनमत संग्रह में 97% लोगों ने यूक्रेन से अलग होने के लिए मतदान किया है.

यूरोपीय संघ और अमरीका ने इस जनमत संग्रह को अवैध बताया है और प्रतिबंध लगाने का ऐलान किया है.

रूसी संसद में दिए गए पुतिन के ताज़ा बयान से यूक्रेन के मुद्दे पर जारी तनाव और बढ़ सकता है.

'अविभाज्य अंग'

महीनों तक चले विरोध प्रदर्शनों के बाद यूक्रेन के राष्ट्रपति विक्टर यानुकोविच रूस भाग गए तो फ़रवरी के अंत में रूस समर्थित बलों ने क्राईमिया पर कब्ज़ा कर लिया था.

रविवार को हुए जनमत संग्रह के बाद क्राईमिया के नए नेताओं ने आज़ादी का ऐलान कर दिया था और मॉस्को से आग्रह किया था कि वह क्षेत्र को रूस में शामिल कर ले.

रूसी राष्ट्रपति ने क्राईमिया को एक स्वायत्त क्षेत्र के रूप में मान्यता दे दी और उसे शामिल करने के एक प्रस्तावित विधेयक को भी मंज़ूरी दे दी है.

मंगलवार को पुतिन ने कहा कि पिछले साल नवंबर में यूक्रेन के राष्ट्रपति यानुकोविच के यूरोपीय संघ के पक्ष में समझौते से इनकार कर रूस से मजबूत गठबंधन का पक्ष लेने पर शुरू हुआ बवाल "अतिवादियों" का काम था जिन्होंने यूक्रेन में अफ़रा-तफ़री मचा दी.

उन्होंने कहा कि क्राईमिया "रूस का अविभाज्य अंग था और रहेगा", और रविवार को हुए जनमत संग्रह के नतीजे "पर्याप्त से अधिक विश्वसनीय" थे.

रूसी राष्ट्रपति के अनुसार क्राईमिया के लोग "इस ऐतिहासिक अन्याय" को सहन करने को तैयार नहीं थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार