यूक्रेन ने क्राईमिया से सेना को वापस बुलाया

यूक्रेन के सैनिक इमेज कॉपीरइट AFP

यूक्रेन के अंतरिम राष्ट्रपति ओलेक्जेंडर तुर्चीनोव ने क्राईमिया से यूक्रेन के सैन्य बलों को वापस होने के आदेश दे दिए हैं.

राष्ट्रपति ने बताया है कि सेना के कर्मचारियों और उनके परिवार को रूसी सैन्य बलों से ख़तरे की आशंका को देखते हुए यह क़दम उठाया गया है.

रूसी सैनिकों ने फ़ियोडोसिया स्थित नौसैनिक अड्डे सहित प्रायद्वीप में यूक्रेन के ज़्यादातर मुख्य ठिकानों पर क़ब्ज़ा कर लिया है.

मार्च के शुरुआत में रूस ने यूक्रेन में कराए गए एक जनमत संग्रह के बाद क्राईमिया का अपने देश में विलय कर लिया था. रूस की इस कार्रवाई को पश्चिम देशों ने ग़ैर-कानूनी क़रार दिया था.

यूक्रेन के रक्षा प्रवक्ता व्लादिस्लाफ़ सेलेज़्नीओव ने कहा है कि रूसी फौज ने नौसैनिक अड्डे पर बख़्तरबंद गाड़ियों और ग्रेनेड से दोतरफा हमला किया है.

रूस ने क्राईमिया के अधिकांश सैन्य ठिकानों को अपने नियंत्रण में ले लिया है.

जी-7 समूह

औद्योगिक देशों के समूह जी-7 नीदरलैंड की राजधानी हेग में इस संकट पर सामूहिक विचार-विमर्श करने वाले हैं.

इमेज कॉपीरइट
Image caption ये इलाका अब रूस के क़ब्ज़े में में है.

जी-7 के नेता परमाणु सुरक्षा से जुड़े वैश्विक खतरों पर लंबे समय से प्रतीक्षारत शिखर सम्मेलन के मौक़े पर सोमवार बैठक कर रहे हैं.

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन परमाणु शिखर सम्मेलन में उपस्थित नहीं रहेंगे. उन्होंने अपनी जगह रूस के विदेश मंत्री को सम्मेलन में भेजने का फ़ैसला किया है.

यूक्रेन के रक्षा मंत्रालय प्रवक्ता ने बीबीसी को बताया कि पहले तो रूसी सैनिकों ने फियोडोसिया नौसैनिक ठिकाने पर मौजूद यूक्रेनवासियों को घेरा फिर उनके अधिकारियों के हाथ बांध दिए.

रूस का क़ब्ज़ा

इमेज कॉपीरइट AP

फ़ियोडोसिया नौसैनिक ठिकाने पर मौजूद एक सैनिक ने समाचार एजेंसी रॉयटर्स को बताया कि वहां गोलीबारी की गई. साथ ही सैनिक ने इस बात की भी पुष्टि की थी कि इस नौसैनिक ठिकाने पर रूस का क़ब्ज़ा हो गया है.

क्राईमिया की राजधानी सिम्फ़ेरोपोल में मौजूद बीबीसी संवाददाता मार्क लोवेन ने बताया है कि नौसैनिक अड्डा अब पूरी तरह रूसी सैनिकों के क़ब्ज़े में है और वहां से यूक्रेन के सैनिकों को हटा दिया गया है.

इससे पहले शुक्रवार को रूसी सैनिकों ने रातोंरात दो अन्य सैन्य ठिकानों पर हमला करके उन्हें अपने क़ब़्जे में ले लिया था.

इमेज कॉपीरइट AFP

इससे पहले इंटरफ़ैक्स न्यूज़ एजेंसी ने जानकारी दी थी कि यूक्रेन की 189 सैन्य इकाइयों और क्राईमिया के अन्य ठिकानों पर रूसी झंडे फहरा रहे थे.

यूरोप में नेटो के सैन्य कमांडर ने रविवार को चेतावनी दी थी कि यूक्रेन की पूर्वी सीमा पर मौजूद रूसी सेनाएं मोलदोवा तक कार्रवाई करने में सक्षम हैं.

क्राईमिया में इस समय कुछ हिस्सों में रविवार शाम से बिजली आपूर्ति बाधित है लेकिन अधिकारियों ने इसके लिए तकनीकी दिक़्क़तों को ज़िम्मेदार ठहराया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार