एमएच370: नए खोज क्षेत्र में पहुंचा चीनी जहाज

लापता विमान के मलबे इमेज कॉपीरइट pool

लापता मलेशिया एयरलाइंस के विमान एमएच370 की खोज में जुटे पांच विमानों ने हिंद महासागर के नए क्षेत्र में कुछ तैरती हुई "चीज़ें" देखी हैं. ऑस्ट्रेलियाई अधिकारियों ने इस बात की जानकारी दी है.

ऑस्ट्रेलियाई समुद्री सुरक्षा प्राधिकरण (एएमएसए) ने कहा कि चीनी गश्ती जहाज़ हाईशीन 01 भी हिंद महासागर के नए खोज क्षेत्र में इन चीज़ों की तलाश में जुट गया है.

एएमएसए ने अपने एक बयान में कहा कि शनिवार को जहाज़ के ज़रिए इस बात की पुष्टि कराई जाएगी कि आख़िर विमान से नज़र आ रही चीज़ें क्या लापता विमान का हिस्सा हैं.

पहले यह घोषणा की गई थी कि इस खोज का दायरा अब पहले के खोज क्षेत्र के 1,100 किलोमीटर (700 मील) उत्तर पूर्व तक होगा.

बीजिंग की ओर जाने वाले मलेशिया एयरलाइंस का विमान आठ मार्च को ग़ायब हो गया था जिसमें 239 लोग सवार थे.

एएमएसए का कहना है कि एक रॉयल न्यूज़ीलैंड एयरफ़ोर्स ओरियन ने सबसे पहले "सफ़ेद और हल्के रंग की तैरती हुई कई चीज़ें देखीं."

एक ऑस्ट्रेलियाई विमान ने भी दो नीले/स्लेटी रंग की आयताकार वस्तुएं देखीं और तीन अन्य विमानों ने भी कुछ ऐसा ही नज़ारा देखा.

दायरा है बड़ा

इससे पहले, ऑस्ट्रेलिया और मलेशिया की सरकारों ने कहा कि उन्होंने नए खोज क्षेत्र पर ध्यान देना शुरू किया है जो रडार डाटा के विश्लेषण पर आधारित है और जिससे यह अंदाज़ा मिलता है कि वह विमान काफ़ी तेज़ी से उड़ान भर रहा था, ऐसे में उसमें ज़्यादा ईंधन की खपत हुई थी.

अधिकारियों का कहना है कि इसके चलते दक्षिण में हिंद महासागर में इस विमान ने जो संभावित यात्रा की, उसकी दूरी कम हो गई होगी.

इमेज कॉपीरइट AP

शुक्रवार की सुबह तक विमान की खोज का दायरा ऑस्ट्रेलियाई शहर पर्थ के दक्षिण-पश्चिम में 2,500 किलोमीटर (1,550 मील) के एक क्षेत्र में केंद्रित था.

उपग्रह से मिली जानकारी के आधार पर मलेशियाई अधिकारियों ने यह निष्कर्ष निकाला है कि लापता विमान कहीं दक्षिणी हिंद महासागर के समुद्र की ओर गया. हालांकि अब तक इसके बारे में कोई सबूत नहीं मिले.

उपग्रह चित्रों का इस्तेमाल कर कई राष्ट्रों ने इस खोज क्षेत्र में समुद्र में तैरती वस्तुओं की पहचान की है, लेकिन ये चीज़ें विमान से जुड़ी हुई हैं या नहीं इस बात का कोई सबूत नहीं मिला है.

मलेशियाई परिवहन मंत्री हिशामुद्दीन हुसैन ने कहा कि खोज क्षेत्र का दायरा दूसरी तरफ़ बढ़ाया गया है लेकिन दक्षिण में संभावित मलबे के पहले की उपग्रह तस्वीरों का भी कोई फ़ायदा नहीं मिला है.

हिशामुद्दीन ने कहा, "पिछले हफ़्ते में विभिन्न उपग्रह तस्वीरों ने जिन संभावित वस्तुओं की पहचान की है वे सागर के बहाव की वजह से इस नए खोज क्षेत्र में अब भी मौजूद हो सकती हैं."

रहस्य बरकरार

मलेशिया एयरलाइंस बोइंग 777 की तक़दीर के रहस्य पर से अब भी पर्दा नहीं उठ पाया है जो कुआलालंपुर से उड़ान भरने के एक घंटे बाद ही ग़ायब हो गया था.

इमेज कॉपीरइट Reuters

यह विमान अपने रास्ते से भटक गया और मलेशियाई तथा वियतनामी हवाई यातायात नियंत्रक क्षेत्र के बीच इसका संपर्क हवाई यातायात नियंत्रकों से टूट गया.

महासागर का विशाल क्षेत्र भी इस विमान की खोज में एक बड़ी चुनौती बन गया है.

इस विमान में यात्रा करने वाले 153 चीनी यात्रियों के कुछ रिश्तेदारों ने मलेशियाई सरकार से मिली जानकारी को स्वीकार करने से इनकार कर दिया है और अधिकारियों पर जानकारी दबाने का आरोप लगाया है.

इससे पहले चीन की सरकारी समाचार एजेंसी शिन्हुआ ने यह सूचना दी कि चीन की बीमा कंपनी ने यात्रियों के रिश्तेदारों को भुगतान की पेशकश करनी शुरू कर दी थी.

गुरुवार को मलेशिया एयरलाइंस ने न्यू स्ट्रेट्स टाइम्स में एक पूरे पृष्ठ का सांत्वना विज्ञापन प्रकाशित कराया जिसमें यह लिखा था, "हमारे विमान से यात्रा करने वाले 239 यात्रियों के रिश्तेदारों, दोस्तों और सहयोगियों के लिए हम सांत्वना व्यक्त करते हैं. केवल शब्दों से हम इस दुख और दर्द को व्यक्त नहीं कर सकते."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार