लापता विमान की खोज के लिए समयसीमा नहीं: एबट

लापता विमान इमेज कॉपीरइट Reuters

ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री टोनी एबट का कहना है कि मलेशिया एयरलाइंस के लापता विमान की खोज जारी रहेगी. उन्होंने कहा कि खोजकर्ताओं ने इसके लिए किसी तरह की समयसीमा नहीं रखी है.

ऑस्ट्रेलिया के शहर पर्थ में एबट ने कहा कि मलेशिया एयरलाइंस की उड़ान संख्या एमएच370 पर निकले विमान की खोज का काम जारी रहेगा. पर्थ से ही लापता विमान को खोजने का अभियान चल रहा है.

पर्थ के दक्षिणी पश्चिम इलाक़े में दस विमान और दस पोत विमान की तलाश में जुटे हुए हैं.

आठ मार्च को बीजिंग के लिए उड़ान भरने वाले मलेशिया एयरलाइंस के इस विमान में 239 यात्री सवार थे.

खोज अभियान में विमान के रिकॉर्डर की तलाश के लिए एक ख़ास तकनीक 'टोड विंग लोकेटर' का इस्तेमाल किया जा रहा है. इस तकनीक के जरिए लापता विमान के रिकॉर्डर से निकलने वाली ध्वनि को आसानी से पकड़ा जा सकता है.

एक बार विमान का मलबा मिलने के बाद इस रिकॉर्डर से अहम जानकारियां मिल सकती हैं.

कोई सुराग़ नहीं

खोज अभियान में अब तक समंदर में तैरती हुई कई चीज़ें मिली हैं. लेकिन माना जाता है कि इनमें से किसी का भी संबंध लापता विमान से नहीं है.

ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री एबट का कहना है, "लापता विमान को ढूंढने का काम ज़ारी रहेगा." उन्होंने यह भी कहा कि "विमान को खोजने के हमारे प्रयास लगातार बढ़े हैं, घटे नहीं हैं."

इमेज कॉपीरइट Reuters

लापता विमान में चीन के 153 यात्री सवार थे. इनमें से दर्जनों लोगों के परिजन रविवार को कुआलालम्पुर में जमा हुए.

मलेशियाई अधिकारियों से विमान के विषय में सही जानकारी न मिलने के कारण परिजनों की निराशा बढ़ती जा रही है.

'हमें सच बताओ' का नारा लगाते हुए वे मांग कर रहे थे कि मलेशियाई प्रधानमंत्री नज़ीब रज़ाक माफ़ी मांगें. दरअसल इन लोगों का मानना है कि अब तक उन्हें जो भी जानकारी दी गई है वह भ्रमित करने वाली है.

मलेशियाई प्रधानमंत्री ने अपनी घोषणा में लापता विमान के हिंद महासागर में गिरने और किसी भी यात्री के जिंदा न बचने की संभावना जताई थी. उनके इस बयान के बाद यात्रियों के परिजनों ने कड़ी नाराज़गी जताई थी.

कहाँ है विमान

ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री ने भी मलेशियाई एयरलाइंस के विमान के हिंद महासागर के दक्षिण में लापता होने की संभावना ज़ाहिर की.

प्रधानमंत्री ने कहा, "जो भी प्रमाण मिले हैं, उनसे मलेशियाई प्रधानमंत्री का इस नतीजे पर पहुंचना स्वाभाविक है."

लापता विमान को लेकर बहुत सारी बातें कही जा रही हैं. उनमें से एक यह भी है कि विमान के कैप्टन ने ख़ुद विमान को अगवा कर लिया है.

इस अटकलों को उन रिपोर्टों से बल मिला जिनमें कहा गया है कि पायलट ने फ्लाइट से बहुत सारी फ़ाइलें नष्ट कीं.

लेकिन शनिवार को मलेशिया के परिवहन मंत्री ने इसकी छानबीन कर रहे लोगों के हवाले से बताया कि फ़ाइलों के नष्ट करने में कुछ ग़लत नहीं है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार