नौकरानी के लिए ब्लड मनी देगा इंडोनेशिया

इंडोनेशियाई नौकरानी सतीना इमेज कॉपीरइट AFP

सऊदी अरब में एक इंडोनेशियाई नौकरानी की फांसी रोकने के लिए इंडोनेशिया 18 लाख डॉलर की ब्लड मनी या किसी हत्या के मुआवज़े के रूप में पीड़ित परिवार को दिया जाने वाले पैसे का भुगतान करेगा.

सतीना नाम की इस नौकरानी को अपनी महिला मालकिन की सात साल पहले हुई हत्या के मामले में दोषी ठहराया गया है. अगले कुछ दिनों में उनकी फांसी की सज़ा निश्चित की गई है.

इंडोनेशिया में में नौकरानी के परिवार और समर्थकों ने पीड़ित को ब्लड मनी का भुगतान करने के लिए एक अभियान चलाकर कुछ पैसे जमा किए थे.

इंडोनेशिया की सरकार ने बाकी के पैसे का भुगतान करने का फ़ैसला किया है.

मालकिन पर हमला

सतीना ने अपनी महिला मालकिन नूरा अल ग़रीब पर सितंबर 2007 में हमला किया था. इसके बाद से वो कोमा में चली गई थीं. बाद में उनकी अस्पताल में मौत हो गई थी.

हमला करने के बाद शांति वहाँ से क़रीब 40 हज़ार रियाल लेकर फ़रार हो गई थी. लेकिन बाद में उन्हें पकड़ लिया गया था.

अपने बचाव में सतीना ने कहा कि उनकी मालकिन उनके साथ बहुत बुरा बर्ताव करती थीं. उन्होंने कहा कि अपनी मालकिन पर उन्होंने इसलिए हमला किया क्योंकि वो उनका बाल पकड़कर सिर को दीवार से टकराने जा रही थीं.

ब्लड मनी जमा करने के लिए इंडोनेशिया में शुरू किए गए अभियान में राजनीतिज्ञ, प्रतिष्ठित लोग और कुछ सामाजिक संगठन शामिल थे.

पीड़ित परिवार ने ब्लड मनी को घटाकर कम कर दिया था, लेकिन फ़ांसी के लिए मुकर्रर दिन तक पर्याप्त पैसे नहीं जमा हो पाए थे.

इंडोनेशिया के एक अधिकारी ने बीबीसी को बताया कि सरकार ने बचे हुए पैसे का भुगतान करने का फ़ैसला किया है. उन्होंने कहा कि सतीना अब मुक़दमे का सामना कर रही हैं.

ऐसा नहीं है कि इंडोनेशिया में इस अभियान का सब लोग समर्थन कर रहे हैं. कुछ लोगों का मानना है कि जनता के पैसे का प्रयोग हत्या के दोषी को बचाने में नहीं किया जाना चाहिए.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार