पहली बार सार्वजनिक की गईं पहले विश्व युद्ध की ख़ुफ़िया फाइलें

  • 12 अप्रैल 2014
माता हारी इमेज कॉपीरइट PA

ब्रितानी ख़ुफ़िया संस्था एमआई-पांच की पहले विश्व युद्ध के दौरान की गई जांच-पड़ताल की रिपोर्ट और फ़ोटोग्राफ़ को पहली बार ऑनलाइन किया गया है.

जिन जासूसों का विवरण इसमें दिया गया है, उनमें स्वॉलो और अमेजनंस के लेखक आर्थर रैनसम और जर्मनी के लिए जासूसी करने के आरोप में फांसी की सज़ा पाने वाली माता हारी के नाम शामिल हैं.

इस तरह की 150 से अधिक फ़ाइलों को पहली बार ऑनलाइन उपल्बध कराया गया है.

यह नेशनल आर्काइव की ओर से पहले विश्व युद्ध की शताब्दी मनाने के लिए आयोजित होने वाले समारोहों की एक कड़ी है.

नेताओं की जानकारी

इस तरह की फ़ाइलों में बोल्शेविक पार्टी, ब्रिटिश कम्युनिस्ट पार्टी और दी ब्याय स्काउट एसोसिएशन की निगरानी रिपोर्टें भी शामिल हैं.

इनमें फ़ासिस्टों से लेकर कम्युनिस्टों और ट्राटस्की और ब्लादिमीर लेनिन जैसे रूसी नेताओं के बारे में भी जानकारी है.

इन फ़ाइलों में अमरीकी कवि और लेखक इरा पाउंड और जर्मनी के क़ब्ज़े वाले बेल्जियम में सैनिकों को बचाने वाले ब्रितानी नर्स एडिथ कावेल के बारे में भी विस्तृत विवरण है.

इन फ़ाइलों को नेशनल आर्काइव ने लंदन में पहले विश्व युद्ध की शताब्दी मनाने के लिए ''फ़र्स्ट वर्ल्ड वार 100'' के नाम से आयोजित होने वाले कार्यक्रमों के तहत किया है.

नेशनल आर्काइव में दस्तावेज़ों के विशेषज्ञ डॉक्टर स्टीफ़न ट्विग कहते हैं, ''नेशनल आर्काइव के संग्रह की फ़ाइलें में पहले विश्व युद्ध के दौरान देश की सुरक्षा में ख़ुफ़िया सेवा के महत्व के बारे में बताती हैं.''

वो कहते हैं, ''अब हमने इन फ़ाइलों को अपने वर्ल्ड वार 100 कार्यक्रम के लिए ऑनलाइन उपलब्ध कराया है, जिससे दुनिया भर के लोग युद्ध के रहस्यमय इतिहास के बारे में ख़ुद ही जान सकें.''

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार