ओबामा केयर: स्वास्थ्य मंत्री का इस्तीफ़ा

अमरीकी स्वास्थ्य मंत्री कैथलीन सेबेलिस इमेज कॉपीरइट Reuters

अमरीकी मीडिया के मुताबिक़ स्वास्थ्य मंत्री कैथलीन सेबेलियस राष्ट्रपति बराक ओबामा के विवादास्पद स्वास्थ्य क़ानून को लागू करने में पेश आ रही दिक़्क़तों और देरी के कारण इस्तीफ़ा दे रही है.

इस क़ानून को राष्ट्रपति के समर्थक देश के लिए एक उपलब्धि के रूप में देखते हैं. इसमें शुरुआती स्तर पर तकनीकी दिक़्क़तें और देरी की समस्या आ रही है.

कैथलीन साल 2009 में ओबामा के पहली बार राष्ट्रपति बनने के बाद से ही स्वास्थ्य मंत्री हैं.

मीडिया के मुताबिक़ ओबामा बजट डायरेक्टर सील्विया मैथ्यूज बरवेल को कैथलीन की जगह नामांकित करेंगे.

'जारी रहेगा कार्यक्रम'

न्यूयॉर्क टॉइम्स के अनुसार सेबेलिस ने ख़ुद ही इस्तीफ़ा देने का फ़ैसला किया है.

पिछले साल अक्तूबर में स्वास्थ्य बीमा का पंजीकरण करने वाली वेबसाइटों में समस्या पैदा होने के बाद से स्वास्थ्य मंत्री के इस्तीफ़े की माँग उठी थी, लेकिन राष्ट्रपति ओबामा ने इसका विरोध किया था.

इमेज कॉपीरइट Getty
Image caption अमरीकी राष्ट्रपति का कहना है कि ओबामा केयर स्वास्थ्य कार्यक्रम जारी रहेगा.

अब तक 70 लाख से अधिक लोग ने केंद्र सरकार या राज्यों की तरफ़ से संचालित वेबसाइटों पर स्वास्थ्य बीमे के लिए आवेदन कर चुके हैं.

राष्ट्रपति ओबामा कहते हैं, "कार्यक्रम जारी रहेगा."

रिपब्लिकन पार्टी इसे स्वास्थ्य उद्योग में सरकार का अनुचित हस्तक्षेप मानती है. अमरीका में रहने वाले लोगों के पास अगर किसी तरह का स्वास्थ्य बीमा नहीं है तो अगले साल से उन्हें को टैक्स जुर्माने का सामना करना पड़ेगा.

विरोध

साल 2010 में लाए गए इस क़ानून के माध्यम से क़रीब चार करोड़ 80 लाख लोगों को स्वास्थ्य बीमा के दायरे में लाने की उम्मीद है, जिनका अपने नियोक्ताओं, सरकार या निजी प्लान के तहत स्वास्थ्य बीमा नहीं हुआ है.

इसका उद्देश्य स्वास्थ्य सेवाओं की बढ़ती क़ीमतों को काबू में करना है और इसे एक निश्चित स्तर का विस्तार पाने के लिए निजी योजनाओं का सहारा लेना होगा.

विश्लेषकों का कहना है कि नवंबर में होने वाले मध्यावधि चुनावों से पहले बरवेल की नियुक्ति को रिपब्लिकन क़ानून की आलोचना के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं.

अमरीकी जनता के बीच में यह क़ानून विवादास्पद बना हुआ है, क्योंकि कुछ लोगों का कहना है कि इससे बीमा की क़ीमतें बढ़ गईं हैं या उनकी पुरानी योजनाएं रद्द हो गईं. कुछ लोग तो स्वास्थ्य बीमा ख़रीदने की अनिवार्यता के औचित्य पर ही सवाल उठाते हैं.

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फ़ेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार